CG Crime : 24 लाख के चने का अफरा-तफरी करने वाला मास्टर माइंड चढ़ा पुलिस के हत्थे….

CG Crime

रायपुर। CG Crime राजधानी के उरला पुलिस ने 24 लाख के चने के अफरा-तफरी करने वाला मास्टर माइंड आरोपी करनाल हरियाणा से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से बेचे गए चने का रकमम 5 लाख 90 हजार रूपए और ट्रेलर वाहन जब्त किया है।

Read More : CG News : चोरी के मामले को तीन घंटे के अंदर सुलझाया, एसपी ने पुलिसकर्मियों को स्मृति चिन्ह देकर किया प्रोत्साहित…

बता दें कि जगन्नाथ कोल्ड स्टोरेज उरला को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार को चना सप्लाई करने के लिए टेंडर मिला था। उक्त टेंडर के बाद जगन्नाथ कोल्ड स्टोरेज उरला के द्वारा 438.70 क्विंटल चना कीमती 24,56,720 रूपए लोकल ट्रांसपोर्टर के माध्यम से ट्रेलर वाहन को हॉयर कर 25 जून 2022 को ट्रेलर क्रमांक यूपी 53 ईटी 8555 के माध्यम से रार्बटगंज सोनभद्र उत्तर प्रदेश रवाना किया गया था।

Read More : CG Crime : दोस्तों ने पत्थर से सिर कुचलकर की दोस्त की हत्या, मामूली बात पर हुआ था विवाद, 6 आरोपी गिरफ्तार…

जो गंतव्य स्थान पर 28 जून 2022 को पहुंचना था। जब निर्धारित दिनॉंक तक चालक माल सहित नहीं पहुंचा। तब प्रार्थी के द्वारा चालक राजीव शर्मा के मोबाईल नंबर पर संपर्क किया किन्तु चालक मोबाईल बंद कर फरार हो गया था। जिससे पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 407 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में लिया था। जांच के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि चालक राजीव शर्मा एवं हेल्पर बेटू उर्फ अभिषेक सिंह तोमर कानपुर में है।

Read More : CG Crime : दोस्तों ने पत्थर से सिर कुचलकर की दोस्त की हत्या, मामूली बात पर हुआ था विवाद, 6 आरोपी गिरफ्तार…

जिससे पुलिस टीम तत्काल उत्तरप्रदेश रवाना हुई। उत्तप्रदेश पहुंचकर पुलिस पार्टी ने चालक राजीव शर्मा एवं हेल्पर बेटू उर्फ अभिषेक सिंह तोमर की तलाश शुरू किया। लेकिन राजीव शर्मा एवं हेल्पर बेटू उर्फ अभिषेक सिंह तोमर पुलिस पार्टी से छिपते रहे। काफी प्रयास के बाद अंततः राजीव शर्मा एवं हेल्पर बेटू उर्फ अभिषेक सिंह तोमर को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों ने पूछताछ में अपना गुनाह कबूल किया, वहीं इस मामले में दो अन्य आरोपियों के शामिल होने की जानकारी पुसिल कोदी।

Read More : CG Crime : पैसे देने से बचने बिजनेस पार्टनर ने अपने रिश्तेदार के साथ मिलकर की हत्या, दो गिरफ्तार…

जिसके बाद पुलिस के टीम ने थाना तरावड़ी जिला करनाल हरियाणा में पूर्व से अन्य मामले में गिरफ्तार उपेन्द्र सिंद भदौरिया 30 वर्ष को प्रोडक्शन वारंट के जरिये रायपुर लाया गया। न्यायालय से पुलिस रिमाण्ड प्राप्त कर कानपुर से उसके बताये अनुसार स्वयं के आरोपी वाहन ट्रेलर को मामले में जब्त किया गया है।

Read More : CG Crime : 59 लाख की गबन मामले में प्रधान आरक्षक गिरफ्तार, फंड शाखा प्रभारी के साथ मिलकर दी वारदात को अंजाम…

मामले का एक अन्य आरोपी शनि सिंह उर्फ धीरेन्द्र प्रताप सिंह फरार है जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। उपेन्द्र सिंह भदौरिया के खिलाफ अन्य राज्यों में इसी तरह के मामले दर्ज है। वह अपने साथियों के सहयोग से अपने वाहनों में फर्जी नंबर, दस्तावेज लगाकर ट्रांसपोर्टिंग के लिये सामान अलग-अलग पार्टियों से लोड कर गायब हो जाता है तथा बिक्री कर फरार हो जाता है।

Related Articles

Back to top button