MP News : पुलिस के सुस्त रवैया से चोरों के हौसले बुलंद, खुलेआम हो रही चोरियां…

MP News

अनूपपुर/भालूमाड़ा, एसके मिनोचा। MP News जहां एक ओर प्रदेश सरकार सुरक्षा व्यवस्था के लिए तमाम प्रयास कर रही है। वहीं स्थानीय पुलिस के सुस्त रवैया के कारण नगर में चोरी की वारदाते बढ़ती जा रही है और चोर चोरी की वारदातो को बड़ी आसानी से अंजाम दे रहे हैं। भालूमाड़ा थाना क्षेत्र में आए दिन हो रही चोरी की वारदातों ने लोगों का चैन छीन लिया है। नगर में चोरों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं और पुलिस हाथ पर हाथ रखे हुए है।

Read More : MP News : पिकनिक मनाने गए तीन लोग डेम में डूबे, दो का शव बरामद, एक की तलाश जारी…

केवई नदी के पुल से लोहे की चोरी
अनूपपुर जिले के अंतिम छोर पर बसे भालूमाड़ा नगर में केवई नदी पर बने पुल पर सुरक्षा की दृष्टि से पुल के किनारे लगाए गए लोहे की रेलिंग को चोर लगातार काट-काट कर चोरी कर रहे हैं। जबकि यह पुल मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ को जोड़े जाने वाला मुख्य पुल माना जाता है और यहां दिन रात वाहनों का आना जाना बना रहता है, लेकिन फिर भी चोरों के हौसले इतने बुलंद हैं कि चलती सड़क से लोहे को चोरी कर रहे हैं।

Read More : MP News : बिजली बिल सुधरवाना हुआ आसान, घर बैठे सुधरेंगे बिल, उपभोक्ताओ को मिलेगी राहत…

पुलिस की गस्ती भी और चोरी भी
स्थानीय पुलिस नगर में रात्रि में सायरन बजाते हुए गस्त तो करती हैं लेकिन फिर भी चोर कैसे चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं यह विचारणीय प्रश्न है। लेकिन पुलिस की गहरी नींद आज भी नहीं टूट रही है। वही सूत्रों की माने तो अधिकांश अवैध कारोबार की तस्करी रात के अंधेरे में ही हो जाती है और पुलिस मौन धारण किए हुए हैं। आखिर इसी कार्यप्रणाली के रवैए को देखते हुए चोरों के हौसले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। वही दूसरी ओर नगर में बढ़ती चोरी की वारदातो को लेकर नगर की जानता में आक्रोश व्याप्त है। और नगर के लोगो ने पुलिस अधीक्षक से मांग की है कि नगर के सभी चौराहों और सड़को पर पुलिस गस्त कराई जाए जिससे चोरी की घटनाओं में कमी आ सके।

Read More : MP News : आकाशीय बिजली के चपेट में आने से 3 मासूमों की मौत, 13 लोग झूलसे…

कही चोरी का कारण कबाड़ दुकान तो नहीं 
कोयलांचल क्षेत्र के कोतमा नगर के मुख्य मार्ग पर ही कबाड़ की दुकान संचालित है। चोरी के अपराध अधिक होने का मुख्य कारण कथित कबाड़ी का यह ठीहा और ऐसे ही अन्य संगठित अपराधी गिरोह तो नही हैं जो स्थानीय युवाओं बेरोजगारों को कुछ घंटों की मेहनत की एवज में मोटी रकम देते हैं और इससे युवा चोरी डकैती जैसे शॉर्टकट रास्ता को अपनाने लगता है। जिस मार्ग पर दुकान स्थित है वहां से रोजाना पुलिस और हंड्रेड डायल की गाड़ी कई चक्कर लगाती है, लेकिन इस ओर ध्यान देने वाला कोई नहीं है।

Related Articles

Back to top button