Ajab-Gajab : Five Star होटलों में भी नहीं होती रूम नंबर 13 और न ही होती है 13वीं मंजिल, अटल बिहारी बाजपेयी से भी है कनेक्शन, जानें आखिर क्‍या है इसका राज….

 

Ajab-Gajab

नई दिल्ली : न्यूरोलॉजी के अनुसार 13 नवंबर सबसे शुभ माना जाता है कई लोग 13 नंबर को बुरे भाग्य का प्रतीक भी मानते हैं. लोगों में 13 नंबर को लेकर भय ऐसा हो गया है कि लोग ना तो तेरा नंबर की होटल के रूम में रुकना चाहते हैं और ना ही 13 तारीख को कोई नया काम करना चाहते हैं। आलम यह है कि आज भी कई शहरों में के होटल में 13 नंबर कमरा नहीं होता अगर आप ट्रैवलिंग के दौरान होटल में ठहरते हैं तो आप अलग-अलग फ्लोर पर भी रूम बुक krye होंगे लेकिन क्या आपने कभी गौर किए हैं कि होटलों में ना तो 13 नंबर का कमरा होता है ना ही तेरहवीं मंजिल होती है, इस वजह से लिफ्ट भी 12 के बाद सीधे 14 मंजिल पर जाने का बटन दबाना पड़ता है तो आज हम आपको बताएंगे आखिर तेरा नंबर को लेकर ऐसा फोबिया क्यों हुआ और क्या है इसके पीछे का रहस्य

पश्चिमी देशों में लोग बीमारी से हैं ग्रसित –

आपको जानकर हैरत होगी, लेकिन पश्चिमी देशों में भी लोग शुभ अशुभ पर विश्‍वास करते हैं। लोगों के अनुसार, 13 नंबर बहुत अशुभ है। 13 नंबर को लेकर लोगों में एक तरह का डर बना रहता है, जिसे ट्रिस्काइडे फोबिया कहते हैं।

यह है 13 नंबर की कहानी –

इस कहानी का सच्‍चाई से कोई वास्‍ता है या नहीं, कोई नहीं जानता। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो ईसा मसीह को एक बार एक किसी ने धोखा दे दिया था। उस व्‍यक्ति ने यीशु के साथ बैठकर खाना खाया था। संयोग की बात है कि वो व्‍यक्ति 13 नंबर कुर्सी पर बैठा था। इस घटना के बाद से 13 नंबर को विदेशों में विश्‍वासघात का प्रतीक माना जाने लगा है।

 

READ MORE : उर्फी मोबाइल और चार्जर के सहारे बचाई इज्जत, लटकाए दो दो मोबाइल फोन

 

 

फ्रांस में नहीं होगी 13 नंबर कुर्सी –

शायद आपको सुनकर हंसी आए, लेकिन 13 नंबर का फोबिया यहीं खत्‍म नहीं होता। बात अगर फ्रांस की करें, तो यहां के होटल और रेस्‍टोरेंट में 13 नंबर की कुर्सी नहीं होती। बड़ा अजीब है, लेकिन यहां के लोग इसका पालन करते हैं और अपने होटल में 13 नंबर की कुर्सी रखने से बचते हैं। उन्‍हें कहीं न कहीं डर रहता है, कि ऐसा करने से कहीं उनके साथ कुछ गलत न हो जाए।

 

 

भारत के इस शहर में नहीं है सेक्‍टर 13 –

वहीं अगर आप कभी चंडीगढ़ गए है या वहां के रहने वाले हैं, तो आपने देखा होगा सेक्टर 12 के बाद सीधे सेक्‍टर 14 होता है। इस संबंध में बताया जाता है कि नगर का मानचित्र तैयार करने वाले वास्तुविद ने भी 13 नंबर को अशुभ माना था।

 

READ MORE : Crime : राजधानी में कत्ल कर मथुरा में फेंकी लाश, पिता ही निकला बेटी का हत्यारा, कुछ दिनों पहले लाल ट्राली में थी लाश…

 

अटल बिहारी वाजपेयी का 13 नंबर से नाता –

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एक अकेले ऐसे शख्‍स थे, जिनका 13 नंबर से गहरा नाता था। पहली बार में उनकी सरकार केवल 13 दिन चली। दोबारा उन्होंने 13 तारीख को ही शपथ ग्रहण की। इसके बाद भी उनकी सरकार मात्र 13 महीने तक ही चली। इसके बाद उन्‍होंने 13वीं लोकसभा के प्रधानमंत्री के तौर पर 13 दलों के सहयोग से 13 तारीख को शपथ लेने के लिए चुना। लेकिन इसके बाद उन्‍हें 13 तारीख को ही कड़ी हार का सामना करना पड़ा। लोगों का कहना है कि यह संयोग से ज्‍यादा कुछ नहीं है।

 

 

Related Articles

Back to top button