अब फ्री में बनेगा ‘आयुष्मान कार्ड’, पहले देने पड़ते थे इतने पैसे, जानिए कहां और कैसे बनेगा ये कार्ड


नई दिल्ली : आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को लेकर केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने इस योजना के लाभार्थियों शुल्क में राहत देते हुए इसे फ्री में बनाने का ऐलान किया है। अब आयुष्मान भारत योजन के लाभार्थी अपना ‘आयुष्मान कार्ड’ (Ayushman cards) मुफ्त में ले सकते हैं यानी इसके लिए अब कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। पहले इस कार्ड के लिए 30 रुपये लिए जाते थे।

कहां मिलेगा आयुष्मान कार्ड

लाइव मिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस कार्ड के जरिये ही लाभार्थी अपना इलाज मुफ्त में करा सकते हैं। लाभार्थियों को आयुष्मान भारत कार्ड देश भर में कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर मिलता है। हालांकि इस कार्ड का डुप्लीकेट बनाने के लिए आपको 15 रुपये देने होंगे।

लाभार्थियों को फ्री कार्ड देना का फैसल राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) ने किया ताकि इस योजना के तहत सेवा वितरण की प्रक्रिया को सुव्यवस्थित और सुगम बनाया जा सके।

सरकार ने कहा कि आयुष्मान कार्ड पीएम-जेएवाई के किसी भी अस्पताल में मिल सकता है। अब इसे मुफ्त में जारी किया जाएगा। यह एक तरह का पीवीसी कार्ड है जिसे कागज के कार्ड पर लाया जा रहा है. इस कार्ड को आसानी से कई वर्षों तक संभालकर रखा जा सकता है।

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

आयुष्मान भारत को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana AB-PMJAY) या नेशन हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम (National Health Protection Scheme) या मोदीकेयर (ModiCare) के नाम से भी जाना जाता है। केंद्र सरकार इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करा रही है।

इलाज के लिए जरूरी है आयुष्मान कार्ड

इस योजना के तहत देश के दस करोड़ गरीब परिवारों को कैंसर सहित 1300 से ज्यादा बीमारियों का मुफ्त इलाज और हर परिवार को 5 लाख रुपये तक का बीमा कवर दिया जा रहा है। अगर आपका नाम इस योजना के अंतर्गत आता है और आप इसका लाभ लेना चाहते हैं, तो आपके पास ‘आयुष्मान कार्ड’ होना जरूरी है। इस कार्ड को आयुष्मान कार्ड (Ayushman Bharat Yojana Golden Card) के नाम से भी जाना जाता है।

 

READ MORE : विधानसभा में 505 करोड़ 700 रुपए का तृतीय अनुपूरक बजट पारित, सीएम बघेल बोले – मार्च में मिलेगी राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किश्त
आयुष्मान कार्ड बनवाना हुआ आसान

अगर आपका नाम आयुष्मान भारत योजना में है और आप गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते हैं, तो आपको इस योजना में शामिल अस्पताल या जन सेवा केंद्र से संपर्क करना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्रों में कार्ड बनवाने के लिए जनसेवा केंद्र बनाए गए हैं, जहां आप इस कार्ड को बनवा सकते हैं। इसे बनवाने के लिए आपको पहले 30 रुपये देने होते थे लेकिन अब यह फ्री मिलेगा और साथ में राशन कार्ड, आधार कार्ड और मोबाइल नंबर बताना होगा।

आयुष्मान भारत में एक नया प्रावधान किया गया है। नया नियम यह है कि इस योजना से जुड़े परिवार में शादी करके आई नई नवेली बहू को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं लेने के लिए किसी कार्ड या डाक्यूमेंट्स की जरूरत नहीं होगी। ऐसी महिलाएं सपनी पति का आधार कार्ड दिखाकर सभी सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगी। बता दें कि पहले ऐसी महिलाओं को विवाह प्रमाण पत्र जरूरी होता था।

आयुष्मान भारत में ऐसे देखें अपना नाम

-सबसे पहले इस लिंक पर क्लिक करें https://mera.pmjay.gov.in/search/login। इसके बाद अपना मोबाइल नंबर ऐड करें। इसके बाद कैप्चा ऐड करें। फिर ओटीपी जेनेरेट करें। उसके बाद ओटीपी नंबर ऐड करें। उसके बाद राज्य सेलेक्ट करें। उसके अपने नाम या जाति श्रेणी से सर्च करें। उसके बाद अपनी डिटेल इंटर करें और सर्च करें।

Related Articles

Back to top button