India’s First Voter Dead : आजाद भारत के पहले वोटर श्याम सरन नेगी का निधन, 106 साल की उम्र में ली अंतिम सांस, 34 वीं बार किया था मतदान 

श‍िमला : India’s First Voter Dead : आजाद बहरत के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी का शनिवार सुबह को निधन हो गया है। किन्नौर के डीसी ने बताया कि श्याम सरन नेगी का आज पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। रात 2 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली।श्‍याम सरन नेगी ने दो द‍िन पहले ही पोस्‍टल बैलेट के जर‍िए व‍िधानसभा चुनाव के ल‍िए वोट डाला था।

India’s First Voter Dead : नेगी ने पहली बार 1951-52 के चुनाव में ह‍िस्‍सा ल‍िया था जो देश का पहला चुनाव था। जीवन के 106 बसंत देखने वाले नेगी ने 34वीं बार मतदान किया था।

नेगी ने 34वीं बार वोट किया था

India’s First Voter Dead : नेगी ने पहली बार 1951-52 के चुनाव में ह‍िस्‍सा ल‍िया था, जो देश का पहला चुनाव था। 106 साल के नेगी ने 34वीं बार वोट किया था। किन्नौर के डीसी आबिद हुसैन सादिक ने श्‍याम सरन नेगी के न‍िधन की पुष्टि की। डीसी ने कहा कि मास्टर श्याम सरन नेगी आज दुनिया को अलविदा कह गए। ऐसे में आज उनका सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होगा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन सबसे बुजुर्ग वोटर के अंतिम संस्कार की व्यवस्था कर रहा है।

श्याम शरण नेगी कौन है ?

India’s First Voter Dead : आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, र‍िटायर्ड स्कूल टीचर श्याम शरण नेगी का जन्म एक जुलाई 1917 को हुआ था। 106 साल की उम्र में न‍िधन से पहले उन्‍होंने ह‍िमाचल चुनाव में वोट डाला। उन्होंने पहली बार जब वोट किया था, तब वह 33 साल के थे। तब से लेकर मरने से पहले तक उन्होंने कभी भी अपना वोट बेकार नहीं किया। किन्नौर के कलपा कस्बे के रहने वाले श्‍याम शरण स्कूल से टीचर के पद से 51 साल पहले रिटायर थे। पहली बार वह 1951 में वोटिंग का हिस्सा बने थे।

ऐसे बने थे पहले वोटर

India’s First Voter Dead : दरअसल भारत का पहला चुनाव फरवरी 1952 में हुआ लेकिन हिमाचल प्रदेश में सुदूर, आदिवासी इलाकों में खराब मौसम के कारण सर्दियों के दौरान मतदान कराना असंभव था। ऐसे में वहां मतदान 23 अक्टूबर 1951 को पांच महीने पहले हो गया। तब श्याम शरण नेगी स्कूल अध्यापक थे और चुनावी ड्यूटी पर थे।
India’s First Voter Dead : इसके कारण वे अपना वोट डालने सुबह सात बजे किन्नौर में कल्पा प्राथमिक स्कूल में अपने मतदान केंद्र पर पहुंच गए। श्याम शरण नेगी वहां पहुंच कर मतदान करने वाले पहले व्यक्ति थे। इसके बाद उन्‍हें बताया गया कि इलाके में कहीं भी सबसे पहले वोट डालने वाला वे ही हैं।

Related Articles

Back to top button