CG News : E-cigg बेचनी वालों पर पुलिस ने की कार्रवाही, नोडल अधिकारी ने की अपील 

 

जगदलपुर । CG News : राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जिला कोटपा प्रवर्तन दल ( स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग एवं नगरीय प्रशासन विभाग ) के संयुक्त प्रयास से जगदलपुर शहरी क्षेत्र की दुकानों में एवं शैक्षणिक संस्थानों के 100 गज़ के दायरे में चालानी कार्यवाही करते हुए कुल 10 चालान किए गए साथ ही, शहरी क्षेत्र जगदलपुर में “इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट” (e-cigarette) के उपयोग एवं चलन पर प्रतिबंधके के लिए विशेष अभियान के तहत 2 संभावित स्थानों पर औचक निरीक्षण करते हुए कार्यवाही की गई ।

CG News : ई सिगरेट के सम्बंध में जानकारी देते हुए जिला नोडल अधिकारी डॉ.ऋषभ साव ने बताया: “सामान्य सिगरेट पीने को जहां स्मोकिंग कहते हैं। वहीं इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट जिसे ई-सिगरेट भी कहा जाता है, इसे पीने की आदत को वेपिंग कहा जाता है। दरअसल, ई-सिगरेट ऐसा यंत्र है जो देखने में साधारण सिगरेट जैसा लगता है। इसमें एक बैटरी और एक कारट्रिज होती है। कारट्रिज में निकोटीन युक्त तरल पदार्थ होता है जो बैट्री की सहायता से गर्म होकर निकोटीन युक्त भाप देता है, उसे सिगरेट के धुएं की तरह लोग पीते हैं। यह निकोटीन और दूसरे हानिकारक केमिकल्स का घोल होता है। अधिकांश लोगों को ई-सिगरेट के खतरे के बारे में जानकारी नहीं है जबकि यह स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक है। अतः जिलेवासियों से अपील है कि वे ई-सिगरेट के प्रयोग से दूर रहें और तंबाकू का नशा छोड़ दें।“

CG News : उन्होंने आगे जानकारी देते हुए बताया: “इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट (उत्पादन, निर्माण, आयात, निर्यात, परिवहन, बिकी, वितरण, भण्डारण, और विज्ञापन) अधिनियम 2019 के निषेध को प्रभावी रूप से कियान्वयन करने एवं अधिनियम के प्रावधानों के उल्लघंन की स्थिति में तत्काल कार्यवाही करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बस्तर द्वारा समस्त पुलिस थानों और चौकियों को पत्र भेजकर निर्देशित किया है। इसके तहत अब पुलिस दल भी जिले में ‘ई सिगरेट’ बिक्री पर लगातार कार्यवाही करेगी।”

ई सिगरेट के दुष्परिणाम

CG News : आईसीएमआर (Indian Council of Medical Research) के मुताबिक ई-सिगरेट के लगातार सेवन से शरीर विभिन्न प्रकार से दुष्प्रभावित हो सकता है।

● व्यक्ति के डीएनए को क्षतिग्रस्त कर सकता है।

● सांस, हृदय और फेफड़े से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं।

● महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान भ्रूण के विकास में दिक्कतें पैदा हो सकती हैं।

● तंबाकू उत्पादों के सेवन की लत भी लग सकती है।

Related Articles

Back to top button