आरिफ और सारस की जय-वीरू वाली दोस्ती देखने पहुंचे अखिलेश यादव, बोले- खुद को रोक नहीं पाया…

आरिफ और सारसअमेठी : उत्तर प्रदेश के जनपद अमेठी में इंसान और सारस की दोस्ती की चर्चा जिले से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर होने लगी है. इस अनोखी दोस्ती की कहानी सुनकर अमेठी दौरे पर आए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी युवक और सारस से मिलने की इच्छा जाहिर की. जिसके बाद वह उसके गांव पहुंच गए. दरअसल, सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक दिवसीय दौरे पर अमेठी पहुंचे थे. जहां वह पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति की बेटी की शादी में शामिल होने के बाद गौरीगंज तहसील के जोधपुर मंडखा गांव पहुंचे, जहां उन्होंने सारस के दोस्त आरिफ से मुलाकात की.

बता दे कि आरिफ ने साल भर पहले सारस पक्षी के घाव पर मरहम लगाया था। वक्त के साथ घाव तो ठीक हो गया पर इसी के साथ दोस्ती व भावनात्मक रिश्ते की एक अनोखी कहानी की पटकथा भी लिख उठी। जिसके अफसाने अब हर दिन सामने आ रहे हैं। जामो ब्लाक के मंढका गांव में राजकीय पक्षी सारस और 30 वर्षीय युवक आरिफ की दोस्ती हकीकत बन चुकी है।

मार्च 2022 में आरिफ अपने खेतों की ओर गए हुए थे। वहां उन्हें एक सारस पक्षी घायल दिखा। करीब गए तो देखा उसका पैर टूटा हुआ था। असहाय सारस पक्षी दया भरी निगाहों से आरिफ की ओर देखने लगा तो आरिफ उसे उठा कर अपने घर लाए और मरहम पट्टी की।

अब तो घर में सभी को हो गया है सारस से प्यार-
आरिफ की सेवा ने सारस पक्षी का ऐसा दिल मोहा की वह उनके घर पर ही रहने लगा। आरिफ अपने चार साल के बेटे अर्श व छह साल की बेटी अरिबा की तरह अपने दोस्त का ख्याल रखते हैं तो उनकी पत्नी, मां व बहन घर में परिवार के दूसरे सदस्यों की तरह सारस के लिए भी भोजन व पकवाना बनाती हैं।

आरिफ के ही साथ ही करता है भोजन
आरिफ के आसपास ही यह पक्षी भी बना रहता है। आरिफ के पिता लाल बहादुर बताते हैं कि सारस आरिफ के साथ ही भोजन भी करता है। वह घर से बाहर कही जाते हैं तो सारस भी उनके साथ जाने की कोशिश में रहता है। ऐसे में कई बार उन्हें उससे छिपकर जाना पड़ता है।

जय और वीरू जैसी हो गई है दोनों की दोस्ती
आरिफ के मित्रों व परिवार के लोगों का कहना है कि फिल्म शोले के जय और वीरू जैसी सदाबहार दोस्ती दोनों में हो गई है। आरिफ के साथी सर्वेश बताते हैं कि साल भर पहले खेत में सारस मिलने व उसके घर पर रहने की बात को पहले सभी ने हल्के में लिया पर अब वही सारस सब का प्रिय हो गया है।

आरिफ के सारस की प्रतिदिन की डाइट
आरिफ के मुताबिक, वह इसे रोजाना सुबह दो अंडे खिलाते हैं। दिन में रोटी, चावल और सब्जी खाता है। सारस आरिफ पर अपना पूरा अधिकार मानता है, उनके अलावा किसी की मजाल नहीं, जो इसे हाथ भी लगा ले।

सारस के बारे में यह भी जानें-

– सारस सबसे बड़ा उड़ने वाला पक्षी माना जाता है।

– दुनिया में सारस आठ प्रजातियां पाई जाती हैं।

– ज्यादातर सारस पक्षी नेपाल और भारत में ही पाए जाते है।

– सारस जोड़े में ही रहना पसंद करते हैं। जोड़ा टूट जाने पर साथी भी कुछ दिन में दम तोड़ देता है।

– सारस की लंबाई खड़े होने पर करीब छह फिट तक होती है।

– सारस पांच सौ किलोमीटर तक की उड़ान भरने की सक्षम होता है।

– सारस को प्रेम का प्रतीक से भी जान जाता है।

– सारस में नर, मादा को पहचानना मुश्किल है।

-सारस ज्यादातर कम पानी में रहकर ही भोजन की तलाश करते है।

– सारस को प्रवासी पक्षी भी माना जाता है। लंबे प्रवास के दौरान यह दूसरी प्रजाति के पास ही अपना सारा जीवन गुजार देते हैं।

– सारस पूरे जीवन में एक ही बार जोड़ा बनाता है और पूरा जीवन उसके साथ ही बिताता है।

– सारस का प्रजनन समय वर्षाऋतु होता है।

– सारस का जीवनकाल 15 से 18 वर्ष होता है।

Back to top button