राष्ट्रीय बालिका दिवस : चुनौतियों का सामना करने के लिए सहनशक्ति और आन्तरिक शक्ति को बढ़ाएं…

रायपुर। जे. आर. दानी कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कालीबाड़ी रायपुर में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया। इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी रूचिका दीदी और सिमरन दीदी ने बालिकाओं को मोटिवेट किया। कार्यक्रम में बच्चों के साथ उपप्राचार्य डॉ. हितेश दीवान, व्याख्याता कु. नीतू पवार, डॉ. लिली साहू, नीतू मिश्रा, सुचित्रा शर्मा, उमा सोनी, कादम्बिनी पटले और अमृता नामदेव आदि उपस्थित थे।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की महिला प्रभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी रूचिका दीदी ने कहा कि आज नारी हर क्षेत्र में अपना झण्डा गाड़ रही है। धरती से लेकर आकाश तक कुछ भी उसके लिए अछूूता नहीं रहा है। इसलिए कभी भी अपने को साधारण मत समझो।

आपके अन्दर अनेक शक्तियाँछिपी हुई हैं। हमारे ही संकल्पों से हमारे भविष्य का निर्माण होता है। यदि आप अपनी पहचान बनाना चाहती हैं तो अपनी सोच को बदलना होगा। जो हम बनना चाहते हैं वह सब हम बन सकते हैं। लेकिन इसके लिए हमें अपनी विशेषताओं और कमजोरियों का ज्ञान होना जरूरी है। विशेषताओं को पहचान कर आगे बढ़ो तो सफलता अवश्य मिलेगी।

उन्होंने आगे कहा कि चुनौतियों का सामना करने के लिए हमें हर परिस्थिति में मुस्कुराना सीखना होगा। यह तभी सम्भव होगा जब हमारे अन्दर सहनशक्ति और आन्तरिक शक्ति होगी। आन्तरिक शक्ति को बढ़ाने के लिए तीन बातों का ध्यान रखें -पहला अपने आपको रोज थोड़ा समय दें। रात्रि को सोने से पहले अपने से बातें करें। आत्म निरीक्षण करें कि आज का दिन कैसा रहा? सबसे अच्छा मार्गदर्शन आपको अपने भीतर से ही मिलेगा। अपना भाग्य आप खुद निर्धारित करें। आप ही अपने अच्छे दोस्त और दुश्मन भी हैं।

उन्होंने कहा कि दूसरी बात- अपनी तुलना किसी से न करें। इसलिए दूसरों को देखने का चश्मा उतार दें। अगर आप दूसरों को देखेंगे तो उनकी कार्बन कापी बन जाएंगे। आप पूरे विश्व में अनूठे हैं। आपके जैसा दूसरा और कोई नहीं हो सकता है। इसी तरह से तीसरी बात- अपने निजी स्वरूप को पहचानकर मेडिटेशन करो अर्थात परमात्मा से अपना सम्बन्ध जोड़ो। मेडिटेशन करने से आपको शक्ति मिलेगी।

ब्रह्माकुमारी सिमरन दीदी ने सभी को राजयोग मेडिटेशन का अभ्यास कराया। प्रारम्भ में व्याख्याता कु. नीतू पवार ने ब्रह्माकुमारी बहनों का परिचय कराया। उप प्राचार्य डॉ. हितेश दीवान ने बालिका दिवस की बधाई देते हुए सभी का स्वागत किया। कार्यक्रम से बच्चों को अध्यात्म और राजयोग मेडिटेशन के बारे में जानने का अवसर मिला।

Back to top button