Nepal Plane Crash : 2 बेटियों के बाद बेटा होने की खुशी में गए थे पशुपतिनाथ मंदिर, नेपाल प्लेन क्रैश में चली गई जान…

Nepal Plane CrashNepal Plane Crash : नेपाल के पोखरा में रविवार को हुए विमान हादसे में मारे जाने वालों में पांच भारतीय भी थे. इनमें से चार उत्तर प्रदेश के गाज़ीपुर के रहने वाले थे और काठमांडू में पशुपतिनाथ मंदिर के दर्शन के लिए गए थे. इन पांच भारतीयों में शामिल सोनू जायसवाल काठमांडू के प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर में मत्था टेकने गए थे. करीब छह महीने पहले उसकी बेटे की इच्छा पूरी हुई थी. सोनू ने मन्नत मानी थी कि बेटा होने पर वो पशुपतिनाथ जाकर माथा टेकेगा, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.

सोनू की दो बेटियां हैं, छह महीने पहले हुआ था बेटा

विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर जैसे ही गाजीपुर जिले के चक जैनब गांव पहुंची, उनके परिवार के साथ ही इलाके में कोहराम मच गया. शोकाकुल परिवार को सांत्वना देने के लिए भारी संख्या में लोग घर पहुंचे. सोनू की दो बेटियां हैं. उन्होंने मन्नत मानी थी कि बेटा होने पर वो पशुपतिनाथ मंदिर जाकर माथा टेकेगा. ये बात उनके रिश्तेदार एवं चक जैनब ग्राम प्रधान विजय जायसवाल ने एक निजी न्यूज एजंसी को बताई है.

 

READ MORE : Big Breaking : पोखरा एयरपोर्ट पर यात्री विमान दुर्घटनाग्रस्त, 13 की मौत, रेस्क्यू जारी…

 

अपने दोस्तों के साथ नेपाल गया था सोनू

उन्होंने बताया, “सोनू अपने तीन दोस्तों के साथ 10 जनवरी को नेपाल गया था. उसका मुख्य उद्देश्य भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन करना था. उन्होंने बेटा होने की मन्नत मांगी थी. यही इच्छा पूरी होने पर वो वहां गए थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.”

वाराणसी के सारनाथ में रहता था सोनू

बताया कि सोनू जायसवाल बीयर की दुकान चलाता था. वर्तमान में वो वाराणसी के सारनाथ में रह रहे हैं. हालांकि, अलावलपुर चट्टी में उनका एक और घर भी है. विमान हादसे में उसके दोस्त अभिषेक कुशवाहा (25), विशाल शर्मा (22) और अनिल कुमार राजभर (27) ने भी जान गंवा दी.

पैराग्लाइडिंग के बाद गाजीपुर लौटना था

पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि विशाल शर्मा बडेसर क्षेत्र के अलावलपुर चट्टी गांव के थे. जबकि अनिल राजभर चक जैनब और अभिषेक कुशवाह धारवा के निवासी थे. स्थानीय लोगों का कहना है, राजभर जन सेवा केंद्र संचालित करते थे. कुशवाहा कंप्यूटर व्यवसाय से जुड़े थे और शर्मा दोपहिया शोरूम में कंप्यूटर ऑपरेटर थे. ग्रामीणों ने कहा कि चारों को पोखरा में पैराग्लाइडिंग के बाद मंगलवार को गाजीपुर लौटना था.

 

Back to top button