VANDE BHARAT TRAIN IN CG : छत्तीसगढ़ पहुंची वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन, पीएम मोदी इस दिन दिखाएंगे हरी झंडी, जानें रूट और टाइमिंग…

 

Vande Bharat Train

 

 

बिलासपुर।VANDE BHARAT TRAIN IN CG  साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे को नई और अत्याधुनिक वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की सौगात मिल गई है. ट्रेन के परिचालन को लेकर युद्धस्तर पर तैयारी शुरू कर दी गई थी. एसईसीआर जोन के जोनल मुख्यायलय बिलासपुर में बुधवार देर रात वंदे भारत की पहली ट्रेन नागपुर से बिलासपुर पहुंची. संभावना जताई जा रही है आगामी 11 दिसंबर को पीएम नरेंद्र मोदी नागपुर से वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखा सकते हैं. रेलवे की आगामी योजना देशभर में नई और अत्याधुनिक वंदे भारत ट्रेन चलाने की है. इसी कड़ी में एसईसीआर से भी दो वंदे भारत ट्रेन का परिचालन किया जाना है. इसे लेकर ही यह ट्रेन बिलासपुर पहुंची है जिसकी पूरी तरह जांच परख कर इसे नागपुर भेजा जाएगा.

नागपुर से बिलासपुर के बीच चलने के लिए पहली वंदे भारत ट्रेन चेन्नई से नागपुर और उसके बाद बिलासपुर पहुंच गई. सबसे जरूरी नागपुर से बिलासपुर तक साढ़े चार सौ किलोमीटर का सफर वंदे भारत ट्रेन सिर्फ साढ़े 5 घंटे में तय करेगी. ट्रेक को 130 किमी प्रतिघंटा की स्पीड के लिए अप्रूवल दे दिया गया है. बिलासपुर में वंदे भारत के रैक के मेंटनेंस के लिए यार्ड को भी तैयार किया गया है. ट्रेन के परिचालन के लिए रनिंग स्टाफ और अन्य रेलवे कर्मियों को विशेष ट्रेनिंग भी दी जा रही है.

बिलासपुर-नागपुर-बिलासपुर के बीच चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस
बिलासपुर से चलाए जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को लेकर सांसद रेणुका सिंह ने जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि बिलासपुर से नागपुर (Nagpur) के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस 11 दिसंबर से शुरू होने जा रही है. यह ट्रेन बिलासपुर से नागपुर तक के सफर के दौरान रायपुर, दुर्ग और गोंदिया में रुकेगी. इसका संचालन शनिवार को छोड़कर सप्ताह में 6 दिन किया जाएगा.

क्या होगी टाइमिंग
नागपुर-बिलासपुर वंदे भारत एक्सप्रेस बिलासपुर से सुबह 6.45 बजे रवाना होकर दोपहर 12.15 बजे नागपुर पहुंचेगी. वापसी में ट्रेन दोपहर 2.05 बजे नागपुर से रवाना होकर शाम 7.35 बजे बिलासपुर पहुंचेगी. इसके रखरखाव के लिए रेल अधिकारियों ने तैयारी पूरी कर ली है. इसके लिए अलग से यार्ड बनाया गया है.

क्या है वंदे भारत की खासियत
– वंदे भारत ट्रेन 52 सेकेंड में 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार पकड़ लेती है
– इसकी रफ्तार को 200 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ाए जाने की योजना है
– यह पूरी ट्रेन वातानुकूलित श्रेणी की है, इसमें ऑटोमेटिक गेट लगे हैं
– ट्रेन में सिक्योरिटी के लिहाज से सीसीटीवी लगाए गए हैं
– लगेज रैक में एलईडी डिफ्यूज लाइट्स लगी हैं, जो अक्सर विमानों में इस्तेमाल होती हैं

 

Back to top button