Rescue of Tanmay : बोरवेल में गिरे तन्मय का रेस्क्यू 30 घंटों से जारी, 45 फीट खोदा गया गड्ढा, NDRF और SDERF की टीम मौके पर, अफसर बोले- कब तक निकाल पाएंगे, कह नहीं सकते…

 

 

 

बैतूल। Rescue of Tanmay मध्यप्रदेश के बैतूल में बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे को 40 घंटे बाद भी निकाला नहीं जा सका। बोर 400 फीट गहरा है। बच्चे को निकालने के लिए बोर के समानांतर गड्‌ढा खोदा जा रहा है, लेकिन लगातार पानी आने की वजह से गड्‌ढे की गहराई ज्यादा नहीं बढ़ाई जा सकी है। बोरवेल के समानांतर 45 फीट का गड्‌ढा खोदा जा चुका है। अब टनल बनाने का काम शुरू होगा

जिले के मांडवी गांव में मंगलवार शाम को खुले बोरवेल में गिरे छह वर्षीय तन्मय को बाहर निकालने के लिए पिछले 30 घंटों से रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार चल रहा है। बोरवेल में करीब 38 फीट की गहराई पर फंसे तन्मय तक पहुंचने के लिए सुरंग बनाई जा रही है। कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस एवं एसपी सिमाला प्रसाद रेस्क्यू कार्य की सतत मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

 

बोरवेल के करीब ही 36 फीट गहरा गड्‌ढा खोद लिया गया। इसमें से पानी निकल रहा है। मोटर से पानी निकाला जा रहा है। इसके बाद सुरंग बनाने का काम किया जाएगा।

मंगरवार रातभर के बाद राहत एवं बचाव अभियान बुधवार को दिनभर जारी रहा। खबर लिखे जाने तक बोरवेल के समानांतर करीब 45 फीट की खुदाई कर ली गई है। इसके बाद करीब तीन फीट गहराई का गड्ढा खोदा जा रहा है। जमीन में नीचे की सतह पर कठोर चट्टान आ जाने के कारण खुदाई करने में मुश्किल आ रही है।

 

तीन जेसीबी मशीन की मदद से बोरवेल के समानांतर गड्‌ढा खोदा जा रहा है। पत्थर के कारण खुदाई का काम बहुत धीरे हो रहा है। एसडीआरएफ की टीम रेस्क्यू कार्य में जुटी है।

हादसा मंगलवार शाम करीब 5 बजे हुआ था। ग्राम मांडवी निवासी सुनील साहू का 6 साल का बेटा तन्मय दूसरे बच्चों के साथ छुपन-छुपाई खेल रहा था। इसी दौरान वह पड़ोसी के बोरवेल में गिर गया। आवाज लगाने पर बोरवेल के भीतर से बच्चे की आवाज आई। इस पर परिवार वालों ने तत्काल बैतूल और आठनेर पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही प्रशासनिक और पुलिस का अमला मौके पर पहुंचा और राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया। करीब 28 घंटे से लगातार रेस्क्यू जारी है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए बच्चे की कुशलता की प्रार्थना की।

अपर कलेक्टर श्यामेंद्र जायसवाल ने बताया कि तन्मय बोरवेल में 36 से 38 फीट की गहराई पर फंसा हुआ है, इसीलिए गहराई तक खुदाई की जा रही है। इसके बाद सुरंग बनाई जाएगी और उसके सहारे बोरवेल में फंसे तन्मय को बाहर निकाला जाएगा। बोरवेल के पास 45 फीट की गहराई पर मजबूत चट्टान आ गई थी, उसे तोड़ने के लिए ब्रेकर मशीन की मदद ली गई है जिसमें काफी समय लग रहा है। इसके अलावा बचाव दल के सामने जमीन के भीतर से पानी निकलने से बड़ी समस्या आ गई है। इस पानी को दो मोटर पंप की मदद से बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है। पानी निकालने के बाद खोदाई की जाती है और मलबा बाहर किया जाता है। कुछ देर बाद फिर से पानी भर जाता है।

 

रेस्क्यू टीम के साथ गांव के लोग भी मौजूद हैं। सभी अपने स्तर पर मदद कर रहे हैं। बोरवेल के ठीक ऊपर ही लाइट लगाई गई है, ताकि बच्चे तक रोशनी जा सके।

मौके पर मौजूद एनडीआरएफ और एसडीईआरएफ के तकनीकी विशेषज्ञ भी मौजूद हैं। अपर कलेक्टर जायसवाल ने बताया कि बोरवेल के भीतर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है, जिसमें मंगलवार शाम के बाद से तन्मय के शरीर में कोई हरकत नजर नहीं आई है। कलेक्टर-एसपी समेत कई अधिकारी मौके पर डटे हैं।

 

बोरवेल के समांतर जेसीबी से गड्ढा किया जा रहा है। पत्थर ज्यादा होने के कारण गड्ढा खोदने में परेशानी हो रही है।

खेत मालिक पर दर्ज होगा मामला
आठनेर थाना प्रभारी अजय सोनी ने बताया कि हमारी पहली प्राथमिकता तन्यम को सुरक्षित बचाने की है। बोरवेल को खुला छोड़ने के मामले में खेत के मालिक नानक चौहान के खिलाफ लापरवाही और मानव जीवन को खतरे में डालने का मामला दर्ज किया जाएगा। बचाव कार्य पूरा होने के बाद जो स्थिति होगी उसके अनुसार धारा बढ़ाई भी जाएंगी।

 

बोरवेल के गड्ढे में गिरे तन्मय के लिए अंदर पाइप से ऑक्सीजन पहुंचाई गई। उसका मूवमेंट चेक किया जाता रहा। उसके पिता से भी उसकी बात करवाई गई।

बैतूल कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने बताया कि बोरवेल से तन्मय को बाहर निकालने के लिए बचाव कार्य लगातार जारी है। कठोर चट्टान और पानी के कारण खोदाई धीमी गति से हो रही है। प्रयास कर रहे हैं कि जल्द सुरंग बना ली जाए।

 

Back to top button