Himachal Congress : हिमाचल कांग्रेस कल विधायकों के साथ करेगी बैठक, तय करेगी राज्य का अगला मुख्यमंत्री, जाने दावेदारों के नाम

Himachal Congress

नई दिल्ली : Himachal Congress : कांग्रेस ने हिमाचल में शानदार प्रदर्शन किया और अपने प्रमुख प्रतिद्वंद्वी बीजेपी को हराकर राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की. अब राज्य का अगल मुख्यमंत्री तय करने के लिए कांग्रेस ने कल अपने विधायकों की बैठक बुलाई है.

Himachal Congress : बता दें कि इससे पहले, पार्टी ने अपने सभी विधायकों को चंडीगढ़ बुलाया था, लेकिन बाद में चुनाव में स्पष्ट बहुमत मिलने के बाद उन्होंने अपनी योजना बदल दी. हिमाचल प्रदेश के प्रभारी राजीव शुक्ला ने पीटीआई-भाषा को बताया, ”नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायक चुनाव परिणाम आने के बाद शुक्रवार को शिमला में बैठक करेंगे और विधायक दल का नया नेता चुनने पर फैसला करेंगे.”

आगे कहा, “पार्टी दो पर्यवेक्षकों – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और वरिष्ठ नेता भूपेंद्र हुड्डा – को मेरे साथ भेज रही है. हम कल शिमला जाएंगे, जहां पार्टी के सभी विधायकों को बुलाया गया है.”

Himachal Congress : कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में बहुमत से जीत तो हासिल कर ली है, मगर सबसे बड़ा सवाल अब यह है कि मुख्यमंत्री कौन होगा. वर्तमान में हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की दावेदारी में कांग्रेस के दो खेमों की लड़ाई बढ़ेगी. हिमाचल में एक खेमा कांग्रेस की प्रचार समिति के प्रमुख सुखविंद्र सिंह सुक्खू के नेतृत्व में उभर चुका है.

Himachal Congress : यहां पर कांग्रेस का दूसरा खेमा वह है, जिसका केंद्र बिंदु ‘हॉलीलॉज’ है. हॉली लॉज पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत वीरभद्र सिंह का आवास है, उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह खुद मुख्यमंत्री पद की दावेदारी में खड़ी हो चुकी हैं.

मुकेश, चंद्रकुमार, राठौर, शांडिल जैसे बड़े नेता भी रेस में 
Himachal Congress : मुख्यमंत्री पद की इस रेस में सुक्खू, प्रतिभा के अलावा मुकेश अग्निहोत्री, चंद्र कुमार, कुलदीप सिंह राठौर जैसे नेता भी हो सकते हैं. अगर प्रतिभा और सुक्खू खेमे में ज्यादा विवाद बढ़ गया तो विकल्प के रूप में इन नेताओं के नाम भी हो सकते हैं. मुकेश अग्निहोत्री कांग्रेस विधायक दल के नेता रहे हैं और वीरभद्र के करीबी रहे हैं. वह ऊना से हैं और ब्राह्मण हैं.
Himachal Congress : चंद्र कुमार वीरभद्र सरकार में वन मंत्री रह चुके हैं. वह चौधरी समुदाय से हैं और ओबीसी हैं. वह हॉलीलॉज के विश्वासपात्र हैं और कांगड़ा जिले से हैं. कुलदीप सिंह राठौर शिमला जिला से हैं और उपचुनाव में चारों सीटों पर अध्यक्ष रहते जीत दिलाने के लिए वह हाईकमान का भरोसा जीत चुके हैं और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं. धनीराम शांडिल पूर्व में कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य रह चुके हैं। वह अनुसूचित जाति से संबंध रखते हैं.

Back to top button