CG : बिना किसी पूर्व सूचना जिला चिकित्सालय के औचक निरीक्षण पर पहुंचे कलेक्टर, सीधे मरीजों और परिजनों से की बात

’कलेक्टर की संवेदनशीलता पर सहज होकर लोगों में दिए चिकित्सालय की व्यवस्थाओं पर फीडबैक’

 

 

कोरिया, एस के मिनोचा। CG कलेक्टर कुलदीप शर्मा आज जिला चिकित्सालय बैकुंठपुर के औचक निरीक्षण पर पहुंचे। उन्होंने बिना किसी पूर्व सूचना के निरीक्षण करते हुए सभी ओपीडी, प्रसव तथा जांच कक्ष, ऑपरेशन कक्ष, दवा वितरण केन्द्र, सोनोग्राफी, एसएनसीयू, एनआरसी, जनरल वार्ड, मेल एवं फीमेल वार्ड आदि में व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कलेक्टर ने सीधे मरीजों से बात कर स्वास्थ्य सुविधाओं पर फीडबैक लिया।

’धन्वंतरी मेडिकल स्टोर से बेहद सस्ती कीमत पर मिल रही दवाइयां, दवाइयों का खर्च हुआ आधा’
CG : ग्राम कुड़ेली से आए मरीज की परिजन सुनीता ने बताया कि यहां डॉक्टर से इलाज कराते रहे हैं, स्वास्थ्य में सुधार है, दवाइयां चिकित्सालय में ही मिल जाती हैं, जो दवाई यहां नहीं मिलती, वे धनवंतरी मेडिकल स्टोर से लेते हैं। सस्ती कीमत पर दवाइयां मिल जाती हैं। कलेक्टर ने दवा वितरण केंद्र में दवाईयों का स्टॉक जांच कर स्टॉक की ऑनलाइन एंट्री के सम्बंध में जानकारी ली।

’मरीजों को असुविधा संज्ञान में आते ही कलेक्टर ने लगाई जिला चिकित्सालय सलाहकार को फटकार’
CG : निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने डॉक्टरों के ड्यूटी चार्ट का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों के अवकाश पर रहने पर लिखित सूचना चस्पा करें जिससे मरीजों और उनके परिजनों को किसी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े। मरीजों से बात कर कलेक्टर ने अस्पताल की व्यवस्था, डॉक्टरों की उपलब्धता, भोजन तथा दवाइयों की उपलब्धता, नियमित जांच के संबंध में जानकारी ली। मरीजों से चर्चा के दौरान मिली शिकायत तथा लगातार कार्य में लापरवाही को देखते हुए कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय सलाहकार को कड़ी फटकार लगायी तथा नोटिस जारी किए जाने और वेतन रोके जाने के निर्देश दिए।

’कीमोथेरेपी यूनिट शुरू करने के दिए निर्देश’
CG : निरीक्षण के दौरान कीमोथेरेपी यूनिट की जानकारी संज्ञान में आने पर कलेक्टर शर्मा ने चिकित्सालय में मरीजों की सुविधा हेतु जल्द ही कीमोथेरेपी शुरू किए जाने के निर्देश दिए, उन्होंने कहा कि इसके लिए चिकित्सकों का प्रशिक्षण करवाएं।

’सप्ताह में डायलिसिस के लिए लगते थे 7500 रुपए, जिला चिकित्सालय में निःशुल्क हो रहा डायलिसिस’
CG :  डायलिसिस कक्ष में भर्ती मरीज नारायण दुबे के परिजनों ने बताया कि वे पहले डायलिसिस हेतु अम्बिकापुर जाते थे, सप्ताह में तीन डायलिसिस का खर्च 7500 रुपए तक हो जाता था। जिला अस्पताल में निःशुल्क डायलिसिस की सुविधा से हमे राहत मिली है। सिविल सर्जन ने कलेक्टर को बताया कि अभी अस्पताल में 05 डायलिसिस मशीन संचालित हैं।

’पोषण पुनर्वास केंद्र का किया जायजा, माताओं से केंद्र की व्यवस्था पर लिया फीडबैक’
CG : कलेक्टर शर्मा ने अस्पताल में पोषण पुनर्वास केंद्र का अवलोकन किया। बताया गया कि वर्तमान में यहां 12 बच्चे भर्ती हैं, उन्होंने माताओं से समय पर पोषण आहार की उपलब्धता के संबंध में चर्चा की तथा स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए।

’धनवंतरी मेडिकल स्टोर का निरीक्षण कर दवाईयों की रेटलिस्ट चस्पा करने के दिए निर्देश’
CG : जिला अस्पताल के बाहर स्थित धनवंतरी मेडिकल स्टोर में कलेक्टर ने स्टोर संचालक से दवाईयों तथा सर्जिकल आईटम के स्टॉक की जानकारी ली। दवा खरीदने आयी महिला ने कलेक्टर को बताया कि धनवंतरी मेडिकल स्टोर में उन्हें बहुत कम मूल्य में दवाइयां मिली है। कलेक्टर शर्मा ने स्टोर में ग्राहकों की सुविधा के लिए उपलब्ध सभी दवाइयों की एमआरपी तथा छूट पश्चात मूल्य की लिस्ट बाहर लगाए जाने के निर्देश दिए।

Related Articles

Back to top button