Retail Inflation Surges : रोज मर्रा की खाने-पिने की चीज़ों के बढ़े दाम, महंगाई पहुंची 7% पर, अगस्त 2021 में 5.3 % रही थी

नई दिल्ली। Retail Inflation Surges भारत सरकार ने आज अगस्त महीने के रिटेल महंगाई के आंकड़े सोमवार को जारी किए गए। जिसमें जारी आंकड़ें आम जनता के ऊपर एक बड़ी मार है। अगस्त महीने में देश की महंगाई दर में वृद्धि हुई है। रिटेल मुद्रास्फीति अगस्त में 7% तक पहुंच गई, जो जुलाई में 6.71% थी।

सरकारी द्धारा जारी आंकड़ों के मुताबिक कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित रिटेल महंगाई दर अगस्त में तीन महीनों की गिरावट के बाद बढ़कर 7% हो गई। जुलाई में ये 6.7% थी। एक साल पहले यानी अगस्त 2021 में ये 5.30% थी। बता दें कि रिटेल इंफ्लेशन लगातार आठ महीने से आरबीआई के 6% टारगेट बैंड से ऊपर है। हालांकि, यह पांच महीनों में दूसरी बार 7% से कम हो गई है।

रोज मर्रा के खाने पीने का मुख्य तौर पर दाल-चावल, गेहूं और सब्जियों की कीमतों के बढ़ने की वजह से महंगाई बढ़ी है। अगस्त में फूड इन्फ्लेशन 7.62% हो गई जो जुलाई में 6.69% थी। जून में 7.75% रही थी। मई महीने में यह 7.97% और अप्रैल में 8.38% थी। रिटेल महंगाई दर लगातार 8 महीनों से RBI की 6% की ऊपरी लिमिट के पार बनी हुई है। जनवरी 2022 में रिटेल महंगाई दर 6.01%, फरवरी में 6.07%, मार्च में 6.95%, अप्रैल में 7.79%, मई में 7.04% और जून में 7.01% दर्ज की गई थी।

aad

Retail Inflation Surges – किसने बिगाड़ा कितना बजट?

 

सामान अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त
अनाज 5.96% 5.33% 5.66% 6.90% 9.57%
मीट और मछली 6.97% 8.23% 8.61% 3.0% 0.98%
दूध 5.47% 5.64% 6.08% 5.84% 6.39%
खाने का तेल 17.28% 13.26% 9.36% 7.52% 4.6%
फल 4.99% 2.33% 3.10% 6.41% 7.39%
सब्जी 15.41% 18.26% 17.37% 10.90% 13.23%
दालें 1.86% -0.42% -1.02% 0.18% 2.52%
मसाले 10.56% 9.93% 11.04% 12.89% 14.90%
सॉफ्ट ड्रिंक्स 5.46% 4.90% 4.88% 4.66% 4.26%
पान, तंबाकू 2.70% 1.15% 1.83% 1.78% 1.67%
कपड़े, फुटवीयर 9.85% 8.85% 9.52% 9.91% 9.91%
फ्यूल एंड लाइट 10.80% 9.54% 10.39% 11.76% 10.78%

Retail Inflation Surges  – रिटेल महंगाई की दर कैसे तय होती है?

कच्चे तेल, कमोडिटी की कीमतों, मैन्युफैक्चर्ड कॉस्ट के अलावा कई अन्य चीजें भी होती हैं, जिनकी रिटेल महंगाई दर तय करने में अहम भूमिका होती है। करीब 299 सामान ऐसे हैं, जिनकी कीमतों के आधार पर रिटेल महंगाई का रेट तय होता है।

 

Related Articles

Back to top button