Ajab Gazab: गांव में नहीं हो रही बारिश तो महिलाओं ने बच्चियों को बिना कपड़ों के घुमाया, फिर किया भंडारे का आयोजन, अब 10 के दिनों के भीतर कार्रवाई के निर्देश


 

दमोहः मध्यप्रदेश के दमोह की महिलाओं की एक शर्मनाक हरकत सामने आई है. यहां की महिलाओं ने बारिश नहीं होने गांव के बच्चियों की बिना कपड़ों के गांव की गलियों में घुमाया. इतना ही नहीं महिलाओं का मानना है कि ऐसा करने से इतनी बारिश होती है कि माता की प्रतिमा का गोबर धुल जाता है. बहरहाल अब इस मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने कलेक्टर से कहा है कि इस मामले में संलिप्त आरोपियों के खिलाफ 10 दिन के अंदर कार्रवाई की जाएं.

दरअसल, मध्यप्रदेश के दमोह में इस साल औसत से काफी कम बारिश हुई है. खेती-किसानी के लिए खेतों में पानी नहीं है. कम बारिश होने से फसल बर्बाद हो रही है. इसी कारण जिले के जबेरा ब्लॉक के आदिवासी बहुल्य बनिया गांव में महिलाओं ने टोटका किया. इसमें महिलाओं ने अपने ही घर की बच्चियों को बिना कपड़ों के गांव की गलियों में घुमाया। खबर है कि जिन बच्चियों को गांव की गलियों में घूमाया गया है उनकी उम्र 3 से 4 साल के बीच है. ग्रामीणों ने बच्चियों से खेर माता को गोबर से ढंकवाया और अनाज कूटने वाले मूसर को उलटा रखवा दिया। इसके बाद गांव की महिलाओं ने मंदिर में भजन-कीर्तन किया। यहां भंडारे का आयोजन भी किया गया।

 

इधर गांव के जिम्मेदार महिलाओं का कहना है कि लोग पानी के लिए परेशान हैं, इसलिए गांव की महिलाओं ने यह टोटका किया है। यह लोगों की आस्था और विश्वास से जुड़ा मामला है। इस टोटके से किसी को कोई भी नुकसान नहीं है। यह धार्मिक क्रिया है।

 

SP ने कहा- अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली, जांच होगी

SP डीआर तेनीवार ने बताया कि आदिवासी महिलाओं ने ऐसा किया है। इसका वीडियो सामने आया है, हालांकि, अभी तक अभिभावकों ने किसी तरह की शिकायत पुलिस में दर्ज नहीं कराई है। वे इस तरह के टोटका करते रहते हैं। फिर भी इसकी जांच कराई जाएगी।

Related Articles

Back to top button