रूस का लड़का, यूक्रेन की लड़की, जंग के बीच दोनों को हुआ प्यार और भारत आकर थम लिया लिया एक-दूसरे का हाथ, होम स्टे के मालिक ने किया कन्यादान…

 

 

नई दिल्ली:  कहते है प्यार कभी उम्र, जगह और जात नहीं देखती। लेकिन जब प्यार किसी जंग के बीच हो जाये तो फिर चर्चा का विषय बन जाती है. दरअसल, रूस और यूक्रेन के बीच जहां पिछले कुछ महीनों से जंग छिड़ी हुई है, दोनों देश एक दूसरे के दुश्मन बने हुए हैं वहीं इस नफरत के बीच रूस और यूक्रेन के एक प्रेमी जोड़े ने सात फेरों में बंधकर सात जन्मों तक साथ रहने की कस्में खाईं है. खास बात यह है कि इस जोड़े ने भारत में आकर हिंदू रिति रिवाज से शादी की है. जोड़े ने हिमाचल प्रदेश के धर्मशला में सात फेरे लिए. इस खास शादी में स्थानीय लोग बाराती बने और प्रेमी जोड़े को शादी की बधाईयां दीं.

दरअसल रशिया के रहने वाले सिरगी नोविका और यूक्रेन की रहने वाली एलोनाब्रोमोका से काफी समय से हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला जिले में मैक्लोडगंज के धर्मकोट में होम स्टे में रह रहे हैं. इसी दौरान दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ी और दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया. दोनों ने मंगलवार को खनियाराखड़ौता गांव के राधा कृष्ण मंदिर में शादी की.

हिंदू रीति-रिवाज से होने वाला विवाह देख हुए थे प्रभावित

रशिया के रहने वाले सिरगी नोविका ने हालांकि अब इजराईल की राष्ट्रीयता ले ली है. लेकिन रूस और यूक्रेन में चले युद्ध के बीच दोनों की शादी चर्चा का विषय बनी हुई है. राधा कृष्ण मंदिर में दोनों ने पूरे विधि-विधान के साथ हिंदू रीति रिवाज से शादी की और सात फेरे लिए. सिरगी नोविका दूल्हा बनकर बारात लेकर पहुंचे.

होम स्टे के मालिक ने किया कन्यादान

बताया गया कि दोनों जिस होम स्टे में रह रहे थे उसके मालिक ने कन्यादान किया और पंडित जी के मंत्रोचारण के साथ दूल्हा-दूल्हन ने सात फेरे लिए. इसके बाद बैंड बाजे की धुन पर बारातियों के साथ दूल्हा-दुल्हन ने भी जमकर डांस किया. शादी की रस्मों के बाद नवविवाहित जोड़े ने पंडित जी का आशीर्वाद लिया और पंडित ने भी नवविवाहित जोड़े के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है.

 

 

 

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button