CG : भाइयों की कलाई में सजेंगी धान, चांवल, गेंहू और लौकी से बनी राखियां, बिहान की बहनों ने तैयार की ’भोरबंधन’ ब्रांड की रक्षासूत्र, पहली दिन हुई अच्छी बिक्री 

 

Raipur :  CG हिन्दू धर्म में विशेष महत्व रखने वाले रक्षाबंधन त्यौहार इस वर्ष 11 अगस्त को मनाया जाएगा। इस त्यौहार में भाई बहनों से कलाइयों पर राखी बंधवाते है और बहनों की रक्षा का वादा करते है, जिसके बाद मिठाई खिलाकर भाई बहनो को तोफे देते है। इस साल बिहान की महिला, स्वसहयता समूह की महिलाओं ने भी इस वर्ष नए किस्म की राखी तैयार की है।

स्वसहायता की महिलाओं ने इस बार अपने राखियों को भोरबंधन से संबोधित किया है। इन राखियों की कीमत 20 रुपए से शुरू होकर अलग अलग किस्मो में 35 से 40 रुपए तक बाजारों में उपलब्ध होगी। भोरबंधन राखियों की ब्रिकी के लिए कबीरधाम जिले में सात अलग अलग कांउटर बनाए गए है।

जिसमें कलेक्टोरेट परिसर, सी मार्ट, सुमित बाजार और जिले के सभी विकासखण्ड के जनपद पंचायत मुख्यालयों में उपलब्ध रहेगी। बिहान की महिलाओं द्धारा तैयार की गई राखियों की सबसे ख़ास बटका यह है कि इसे बनाने के लिए धान के दाने चांवल गेंहू लौकी के बीज का उपयोग किया गया है, जो राखी जैसे पावन त्यौहार को हमारी प्रकृति से भी जुड़े रहने का संदेस देता है। जिससे इस पवित्र बंधन का महत्व अब और भी अधिक हो गया है। मिली जानकारी अनुसार, पहले ही दिन महिला स्वसहायता समूह ने भोरबंधन राखियों की अच्छी बिक्री हुई है।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button