बघेल का खरोरा प्रवास : 3 करोड़ 91 लाख रूपये की लागत से बने कॉलेज भवन का होगा लोकार्पण, दाऊ स्व. रामप्रसाद देवांगन की प्रतिमा का भी किया जाएगा अनावरण

 

 

रायपुर। CM मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कल 2 अगस्त को रायपुर जिले के खरोरा प्रवास पर रहेंगे। इस दौरान बघेल खरोरा में स्व.रामप्रसाद देवांगन शासकीय महाविद्यालय के नव-निर्मित भवन का लोकार्पण करेंगे। कॉलेज का यह नया भवन तीन करोड़ 91 लाख रूपये की लागत से बनाया गया है।

मुख्यमंत्री कॉलेज परिसर में ही क्षेत्र के दानवीर दाऊ श्री रामप्रसाद जी देवांगन की प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे। इस दौरान बघेल जनसमुदाय को संबोधित करेंगे और शासन की योजनाओं के तहत हितग्राहियों को लाभान्वित भी करेंगे। जिला प्रशासन द्वारा मुख्यमंत्री के इस प्रवास के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है।

कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ शिव डहेरिया, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, धरसींवा की विधायक अनिता शर्मा, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, सन्निर्माण कर्मकार मंडल के अध्यक्ष सन्नी अग्रवाल, तिल्दा जनपद पंचायत की अध्यक्ष सुमन नायक, नगर पंचायत खरोरा के पूर्व अध्यक्ष अरविंद देवांगन, कालेज प्रबंधन समिति के अध्यक्ष रविन्दर भाटिया सहित विद्याभूषण शुक्ला और अन्य जन प्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक मौजूद रहेंगे।

खुले हाथ से दान करने के लिए मशहूर थे दाऊ जी-

क्षेत्र में खासें लोकप्रिय रहे दानवीर स्व. श्री रामप्रसाद जी देवांगन खरोरा के मालगुजार भी रहे है। लोग उन्हें डंडीराम जी देवांगन के नाम से भी जानते है। दाऊ रामप्रसाद जी का जन्म 19 अप्रेल 1923 को हुआ था और 2 अगस्त 2003 को उनका स्वर्गवास हो गया। स्व. रामप्रसाद जी गरीब, बेसहारा व जरूरतमंद लोगों के लिए मसीहा थे।

उन्होंने खुले हाथों से सहयोग व दान करने की परंपरा आजीवन निभाई। शिक्षा के लिए उनका समर्पण, योगदान अनंतकाल तक अविस्मरणीय रहेगा। छोटे भाई भरत देवांगन को उच्च शिक्षा के लिए रायपुर भेजा, परंतु स्नातक शिक्षा अध्ययन के दौरान ही भरत की असामयिक मृत्यु ने रामप्रसाद जी को झकझोर कर रख दिया।

जब बच्चे उच्च अध्ययन के लिये शहरों में जाते है। उन्हे और परिवार के सदस्यों को अनेकानेक रूप से आर्थिक व मानसिक समस्याओं से जुझना पड़ता था, इन्हीं सब वजहों से युवा रहम दिल रामप्रसाद जी देवांगन ने खरोरा में ही इस अंचल के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए जुलाई 1959 में उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शुरू किया।

इसके लिये 4 एकड़ जमीन भी दान में मुहैया कराई। वर्तमान में स्व. भरत देवांगन स्मृति शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में डेढ़ हजार छात्र-छात्रायें अध्ययन कर रहें है। दाऊ रामप्रसाद देवांगन द्वारा खरोरा की एक दूसरी अशासकीय संस्था सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय के लिए 66 डिसमिल जमीन 2003 में दान की गई। दानवीर द्वारा दी गई इस जमीन पर संचालित विद्यालय में 12वीं तक के विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे है।

खरोरा कॉलेज में लगभग चार सौ विद्यार्थियों को पढ़ने की बेहतर सुविधा मिलेगी- खरोरा में स्व.रामप्रसाद देवांगन शासकीय महाविद्यालय के नव-निर्मित भवन में आस-पास के लगभग चार सौ विद्यार्थी पढ़ रहें है। पहले खरोरा के विद्यार्थियों को कॉलेज की पढ़ाई के लिए रायपुर-पलारी-बिलासपुर जाना पड़ता था।

घर से दूर रहने-खाने के साथ-साथ अन्य दूसरी असुविधाएं भी विद्यार्थिंयों को होती थी। ऐसे में 2017 में खरोरा में शासकीय कॉलेज शुरू हुआ था। इस महाविद्यालय का नामकरण क्षेत्र के लोकप्रिय दानवीर और बच्चों की शिक्षा के लिए हमेशा अग्रसर रहने वाले दाऊ स्व.रामप्रसाद जी देवांगन के नाम पर किया गया था।

इस महाविद्यालय का नया भवन तीन करोड़ 91 लाख रूपये की लागत से तैयार हुआ है । 2100-2100 वर्गमीटर क्षेत्र में भू-तल और प्रथम तल पर तैयार इस भवन में प्राचार्य कक्ष, उप प्राचार्य कक्ष, स्टाफ कक्ष, कार्यालय, सोलह क्लास रूम, पांच प्रयोगशाला कक्ष, लाइब्ररी कक्ष, कम्प्यूटर कक्ष, परीक्षा नियत्रंक कक्ष, कॉमन रूम सहित आठ स्टोर रूम भी बनाये गये है। इस महाविद्यालय में आर्टस, कामर्स और गणित विषय में विज्ञान संकाय की कक्षाएं संचालित हो रही है।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button