Airforce Fighter Plane Crash : एयरफोर्स का फाइटर प्लेन क्रैश, पायलटों की दर्दनाक मौत, 1 किमी तक बिखरा मलबा, देखें दिल दहला देने वाला Video…

 

Airforce Fighter Plane Crash

 

बाड़मेर, Airforce Fighter Plane Crash : राजस्थान के बाड़मेर में एयरफोर्स का फाइटर प्लेन क्रैश हो गया. जमीन से टकराने के बाद प्लेन में भीषण आग लग गई. जिससे प्लेन में बैठे दोनों पायलटों की मौत हो गई. पुलिस और प्रशासन की टीमें मौके पर पहुंच गई है. घटना इतनी भीषण थी कि विमान का मलबा करीब 1 किमी के दायरे में जाकर बिखर गया. बता दें कि, विमान में सवार दोनो पायलटों के पैराशूट नहीं खुले थे. हालांकि, घटना की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन ओर एयरफोर्स के अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं.

यह हादसा बायतु थाना क्षेत्र के भीमड़ा गांव में हुआ है. वहीं, इस मामले में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाड़मेर में मिग-21 लड़ाकू विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने पर भारतीय वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी से बात की. इस दौरान वायुसेना प्रमुख ने उन्हें घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी है. जानकारी के अनुसार, विमान नीचे गिर गया और आग का गोला बन गया. ऐसे में बताया जा रहा है कि हादसे में दोनों पायलट की मौत हो गई है.

 

 

आधे किलोमीटर तक फैला MIG-21 का मलबा

वहीं, फाइटर जेट मिग 21 के क्रैश होने की सूचना से गांव में अफरा तफरी मच गई. हालांकि, यह घटना करीब रात 9 बजे की बताई जा रही है. हादसे के दौरान प्लेन का मलबा आधा किलोमीटर तक बिखर गया है. ये हादसा इतना भीषण था कि पूरे इलाके में तेज धमाके के साथ आग की लपटें देख लोगों में अफरा तफरी मच गई. सूचना मिलते ही फायर बिग्रेड की गाड़िया घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है. गनीमत रही कि विमान हादसे से पहले आबादी वाले इलाके से दूर पहुंच चुका था. फिलहाल जिला प्रशासन और वायु सेना के अधिकारी मौके पर पहुंच रहे हैं.

 

 

वायु सेना ने कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के दिए आदेश

 

 

इस मामले में भारतीय वायु सेना के मुताबिक, वायुसेना का एक ट्विन सीटर मिग-21 ट्रेनर विमान आज शाम राजस्थान के उतरलाई हवाई अड्डे से प्रशिक्षण के लिए उड़ान के लिए रवाना हुआ था. जहां रात करीब 9:10 बजे बाड़मेर के पास विमान का एक्सीडेंट हो गया. इस दौरान दोनों पायलटों को मौत हो गई है. वहीं, भारतीय वायुसेना को जान गंवाने का गहरा अफसोस है. हालांकि, मृतक परिवारों के साथ वायुसेना मजबूती से खड़ी है. वहीं, हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं.

 

 

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button