Weather Update: छत्तीसगढ़ के ऊपर चक्रवाती घेरा, गरज-चमक के साथ होगी भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट…

 

Weather Update

 

रायपुर, Weather Update : मौसम अपना रूप पल-पल में बदल रहा है कभी अचानक बारिश होने लगती है तो कभी धुप निकल आती है, लेकिन इन सब के बावजूद भी छत्तीसगढ़ के कई इलाको में उम्मीद से अधिक बारिश हुई है, सिर्फ दुर्ग-भिलाई में 24 घंटे में ही 137.4 मिमी बरसा जिससे पूरा इलाका जल मग्न हो गया है. दुर्ग जिले में पिछले तीन चार दिनों से लगातार बारिश हो रही है। रोज़ाना बदलते मौसम को देखते हुए मौसम विभाग भी लगातार रेड-येलो अलर्ट जारी कर रही है.

 

छत्तीसगढ़ के ऊपर बन रहा चक्रीय चक्रवाती घेरा

मौसम विभाग के अनुसार मानसून ट्रफ जैसलमेर, कोटा, सागर, पेंड्रा रोड, गोपालपुर और उसके बाद दक्षिण-पूर्व की ओर पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक फैला है। एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा अंदरुनी ओडिशा और उससे लगे छत्तीसगढ़ के ऊपर स्थित है। इसके साथ ही ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक फैला है।

गरज-चमक के साथ आज भी अच्छी बारिश के आसार

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम वैज्ञानिक हरिप्रसाद चंद्रा ने बताया कि आगामी 24 घंटे के दौरान ट्विनसिटी समेत अधिकांश स्थानों पर अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। इस दौरान आसमान में बादलों का पहरा बना रहेगा। गरज-चमक की स्थिति बनी रहेगी।

सीएम ने दिया निर्देश-

भारी वर्षा और एक-दो स्थानों पर अति भारी वर्षा की संभावना बनी हुई है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य के सभी जिला कलेक्टरों, पुलिस अधीक्षकों और नगरीय निकायों को सतर्क रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने प्रभावित क्षेत्रों में जलभराव और बाढ़ जैसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए आपदा प्रबंधन संबंधी सभी उपाय सुनिश्चित करने को कहा है।

 

 

मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेश में हो रही लगातार बारिश को देखते हुए संभावित प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव के उपायों की सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश सभी कलेक्टरों को दिया है। उन्होंने कहा कि जलभराव और बाढ़ जैसी विपरीत परिस्थितियों से निपटने के लिए पूरी सतर्कता बरती जाए। लोगों के बचाव और उन्हें राहत पहुंचाने की सभी तैयारी भी रखी जाए। मुख्यमंत्री ने निचले और संभावित प्रभावित इलाकों में आपदा प्रबंधन दल को मुस्तैद रखने को कहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि आवश्यकता पड़ने पर प्रभावितों को तत्काल आवश्यक सहायता उपलब्ध कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा है नदी-नालों के जल स्तर पर लगातार निगरानी रखी जाए। इसकी जानकारी नियमित रूप से कंट्रोल रूम में दी जाए। जहां भी जलभराव और बाढ़ की स्थिति निर्मित हो सकती है, वहां पूर्व से ही सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली जाएं।

 

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button