Hariyali Amavasya : इस हरियाली अमावस्या जरूर करें यह उपाय, दूर हो जाएंगे सभी ” पितृ दोष”, बस करना होगा यह काम, जाने सही तिथि और मुहूर्त

 

 

Hariyali Amavasya

 

 

नई दिल्ली, Hariyali Amavasya : सावन महीनें को बहुत खास व पवित्र माना जाता है, इस महीने के हर दिन का महत्व बहुत अधिक होता है, और अगर इस बीच कोई त्योहार पड़ जाता है तो उसका महत्व दोगुना हो जाता है, जैसा कि सावन के महीना बरसात में होता है और पुरे बरसात चरों ओर हरियाली छाई हुई रहती है, इस कारण इस माह में पड़ने वाली अमावस्या को हरियाली अमावस्या के नाम से जाना जाता है. हरियाली अमावस्या पर पेड़ लगाने और पेड़ों का पूजन करने का विशेष महत्व है. इसके अलावा पितृदोष शांति के लिए भी हरियाली अमावस्या तिथि बेहद खास मानी जाती है. इस बार हरियाली अमावस्या 28 जुलाई को पड़ रही है. अगर आप पितृ दोष से पीड़ित हैं और इस अमावस्या पर पितरों की शांति के लिए कुछ प्रयास करना चाहते हैं, तो यहां जानिए आसान उपाय.

हरियाली अमावस्या में करने वाले उपाय

1- हरियाली अमावस्या के दिन दूध में काले तिल डाल कर मंदिर जाएं और इससे शिवलिंग का अभिषेक करें. इस बीच ॐ नम: शिवाय मंत्र का 108 बार जाप करें. शिव जी के अभिषेक के बाद पीपल के नीचे तिल के तेल का दीपक जलाएं और पांच तरह की मिठाइयों को अलग अलग पांच पीपल के पत्तों पर रखें और ॐ सर्वेभ्यो पितृदेवेभ्यो नमः मंत्र का जाप करें. असके बाद पीपल के पेड़ की परिक्रमा करें और पितरों से अपनी गलतियों की क्षमा मांगें. इसके बाद उस प्रसाद को गरीबों में बांट दें. लेकिन स्वयं न खाएं.

2-सवा मीटर सफेद कपड़े में 250 ग्राम साबुत चावल, एक सूखा नारियल व 11 रुपए बांधकर 21 बार घुमाएं और इसे घर के किसी ऐसे स्थान पर रखें, जहां इसे कोई हाथ न लगाए. इसके बाद एक गिलास में जल गुलाब का फूल, इत्र और सफेद रंग की मिठाई पितरों के निमित्त रखें और पितरों से अपनी गलती के लिए माफी मांगे. माना जाता है कि अगर आप पूरे मन से पितरों से क्षमा याचना करें, तो वे आपसे बेहद प्रसन्न होते हैं और आप पर कृपा बरसाते हैं.

 

READ MORE :Horoscope Today 23 July 2022 : इन 3 राशि वाले आज रचेंगे नए कीर्तिमान, शनि देव की बरसेगी कृपा, जानिए क्या कहती है आपकी राशि 

 

 

3-हरियाली अमावस्या के दिन आप पीपल का पौधा भी लगा सकते हैं. सावन में ये पौधा आसानी से लग जाएगा. जैसे जैसे ये पौधा बड़ा होगा, वैसे वैसे पितरों से जुड़ी तमाम समस्याएं भी समाप्त होंगी. ​इसके अलावा आप हर अमावस्या पर पितरों के निमित्त सरसों के तेल का दीपक भी जला सकते हैं.

 

4- अगर आप पितृ दोष से पीड़ित हैं तो हर अमावस्या पर खीर बनाकर उसे रोटी पर रखकर गाय को जरूर खिलाएं. गाय में सभी देवी देवताओं का वास माना जाता है. इसके अलावा पीपल पर जल चढ़ाएं. कहा जाता है कि अगर परिवार को पितरों का आशीर्वाद मिल जाए तो वो परिवार खूब फलता फूलता है.

 

 

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button