Vastu Tips : रोटी बनाते और परोसते समय भूल कर भी न करें यह गलती, घर में होने लगता है कलेश, रूठ जाती है लक्ष्मी…

 

 

 

Vastu Tips

 

 

 

नई दिल्ली, Vastu Tips : जीवन जीने के लिए शरीर को अच्छे और पौष्टिक भोजन की आवश्यकता होती है, लेकिन कई बार ऐसा होता की अच्छा भोजन होने के बावजूद भी सेहत अच्छा नहीं रहता है, घर में कलेश और कलह अपने पैर पसारने लगते है, और इसकी वजह आपके भोजन में नहीं बल्कि उसे परोसने के ढंग में होती है. शरीर के लिए सभी पौष्टिक भोजन मेसे एक होता रोटी जो की सेहत के लिए काफी अच्छा होता है, आइए आज हम आपको बताते हैं कि रोटी परोसते समय किन गलतियों से हमेशा बचना चाहिए वर्ना घर कंगाल होते देर नहीं लगती.

एक साथ न परोसें 3 रोटियां

वास्तु शास्त्र की बात करें तो कई बार अनजाने में कई गई छोटी-छोटी गलतियां हमारे जीवन में बड़ा भूचाल बन जाती हैं. इन्हीं में से एक चूक है, गलत तरीके से रोटी का परोसा जाना. इसकी वजह से आर्थिक तंगी के साथ ही परिवार में गृह क्लेश की भी समस्या पैदा हो जाती है. सनातन धर्म के मुताबिक भोजन कर रहे किसी भी व्यक्ति को कभी भी एक साथ 3 रोटियां नहीं परोसनी चाहिए. ऐसा करने से घर की सुख-शांति भंग हो जाती है और परिवार पर नकारात्मक ऊर्जा हावी हो जाती हैं. इसके बजाय आप एक या 2 रोटियां परोसें.

हाथ में रखकर न दें रोटी

कई बार भोजन करते समय किसी व्यक्ति की थाली में रोटी (Astrology Related to Roti) खत्म हो जाती है. ऐसे में रसोई में से रोटी हाथ में लेकर भोजन कर रहे व्यक्ति को नहीं दी जानी चाहिए. हाथ में रोटी लेकर परोसना दरिद्रता को न्योता देना होता है. माना जाता है कि हाथ में रोटी देने से भोजन खिलाने का पुण्य भी खत्म हो जाता है, इसलिए भूल से भी ऐसी गलती नहीं करनी चाहिए. ऐसे में रोटी को हमेशा किसी थाली या प्लेट में रखकर ही परोसा जाना चाहिए.

मेहमानों को न खिलाएं बासी रोटियां

अक्सर रोटियां बच जाने पर कई घरों में उन्हें रख लिया जाता है और बाद में खा लिया जाता है. अगर उन रोटियों को आप खुद खा रहे हैं तो कोई बात नहीं. लेकिन अगर कोई साधु-संत या मेहमान आपके घर आ जाए तो उन बासी रोटियों को कभी नहीं खिलाना चाहिए. ऐसा करने भगवान नाराज हो जाते हैं, जिससे हंसते-खेलते घर के भी बर्बाद होने में देर नहीं लगती है. इसलिए ऐसी गलती कभी न हो, यह बात हमेशा सुनिश्चित करें.

 

 

 

टीप :- इस खबर में दी गई सभी जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है, TCP 24 इसकी पुष्टि नहीं करता है, अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट या ज्योतिषी से सलाह ले.

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button