Shocking News: पुलिस की नौकरी मिलते ही पत्नी ने पति को पहचानने से किया इनकार, बोली- ये वो नहीं जिससे मै….

 

Shocking

 

 

 

बिहार, Shocking : बिहार के सहरसा में कथित तौर पर एक महिला को पुलिस की नौकरी मिलते ही अपने पति को पहचानने से इनकार कर दिया है, जिसके बाद अब उसका पति इन्साफ के लिए दर-दर भटक रहा है, उसने इस मामले में समस्तीपुर के एसपी को आवेदन भी दिया है. बता दे कि सहरसा के महेंद्र कुमार (बदला हुआ नाम) नाम के शख्स ने बताया कि युवती रीना कुमारी (बदला हुआ नाम) से उसकी मुलाकात हवाई अड्डा मैदान में हुई थी, जहां दोनों दौड़ लगाने जाते थे. महेंद्र ने बताया कि रीना बिहार पुलिस की तैयारी कर रही थी और वह आर्मी की तैयारी कर रहा था. इस दौरान दोनों के बीच प्रेम हो गया और फिर दोनों ने साथ जीने-मरने की कसम भी खाई.

युवक ने आगे बताया कि शादी से पहले शहर के नया बाजार में 4 महीने साथ भी रहे, जिसके बाद पिछले साल ही परिजनों की रजामंदी से दोनों ने शादी कर ली. सहरसा के मटेश्वर धाम मंदिर में उनकी शादी करवाई गई. शादी होने के बाद जब पत्नी को बिहार पुलिस से जॉइनिंग लेटर आया तो वह पैसों की मांग करने लगी. पीड़ित महेंद्र ने बताया कि वह अपनी पत्नी के पीछे तब तक 14 से 15 लाख रुपये खर्च कर चुका था. बाद में वह ट्रेनिंग के लिए चली गई और जब वह उससे मिलने गया तो उसकी पत्नी ने पहचानने से ही इनकार कर दिया.

 

READ MORE:Vastu Tips : रोटी बनाते और परोसते समय भूल कर भी न करें यह गलती, घर में होने लगता है कलेश, रूठ जाती है लक्ष्मी…

 

 

आरोप है कि जब युवक दोबारा ट्रेनिंग सेंटर गया तो उसकी पत्नी ने एक सिपाही के जरिए उसे डांट-डपटकर भगा दिया. पीड़ित के मुताबिक, उस दौरान उसकी पत्नी रीना ने वादा कर दिया कि वह ट्रेनिंग खत्म होने के बाद उसके साथ रहने आ जाएगी.पीड़ित ने कहा, ट्रेनिंग खत्म होने के बाद जब पत्नी गांव आई तो उसने पंचायत बुला ली और चार-पांच लोगों को बैठाकर बोली- अब वह पति के साथ नहीं रहेगी.

इसी बीच, महेंद्र ने समस्तीपुर के पुलिस अधीक्षक (SP) के पास भी आवेदन दिया ताकि उसे इंसाफ मिल सके, क्योंकि उसकी पत्नी उसी जिले के पटोरी थाने में तैनात है.वहीं, शिकायत करने के बाद एसपी ने कहा कि केस महिला थाने का है जिसे वो ट्रांसफर कर देंगे. युवक अब न्याय की मांग कर रहा है. दोनों की शादी 2021 में हुई थी.

 

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button