Indian Antarctic Bill 2022 : लोकसभा में पारित हुआ इंडियन अंटार्कटिक बिल 2022, जानें क्या है इसकी अहमियत

 

 

New Delhi : Indian Antarctic Bill 2022 लोकसभा के सदन में आज पर्यावरण संबंधित इंडियन अंटार्कटिक बिल, 2022 पारित हो गया है। जिसके बाद से भारत द्वारा अंटार्कटिक पर्यावरण और इस पर आश्रित व संबद्ध पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा के लिए राष्ट्रीय उपाय करना है। लोकसभा में 1 अप्रैल को इस बिल को पेश किया गया था, मगर अव्यश्कता महसूस होने के बाद भी यह पास नहीं हो पाया था। मानसून सत्र में इंडियन अंटार्कटिक बिल को पारित कराने के लिए लिस्ट किया गया।

विधेयक का उद्देश्य अंटार्कटिक पर्यावरण और आश्रित और संबद्ध पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा के लिए भारत के अपने राष्ट्रीय उपाय करना है। वहीं सदन सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

अंटार्कटिका एक महाद्वीप है जो पृथ्वी के दक्षिणी ध्रुव पर स्थित है। यह निर्जन इलाका है और पूरी तरह बर्फ से ढका है। पृथ्वी के नॉर्थ पोल और साउथ पोल सबसे ठंडी जगह हैं। जिसपर सालों से दुनियाभर के कई वैज्ञानिक शोध कर रहे हैं। इस बिल के जरिए केंद्र सरकार एक अंटार्कटिका शासन और पर्यावरणीय संरक्षण समिति बनाएगी। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव इस समिति के अध्यक्ष होंगे।

बिल के जरिए अंटार्कटिका के लिए अभियान का हिस्सा बने लोगों के परमाणु कचरे के निष्पादन और यहां की मिट्टी को वहां ले जाने संबंधित दिशा-निर्देश और रोक के नियम तय किए गए है। अंटार्कटिका में भारतीय मिशन पर गए लोगों की किसी गलती, अनियमितता, अपराध जैसी चीजों पर भारत की अदालतों में फैसला करने के लिए ये कानून लाया जा रहा है।

 

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button