CG Crime : बैंक खाता में दस्तावेज अपडेट करने का झांसा देकर लाखों की ठगी, राजस्थान के तीन अंतर्राज्यीय आरोपी…

CG Crime

रायपुर। CG Crime राजधानी के राजेन्द्र नगर पुलिस के टीम ने मुखबिर की सूचना पर बैंक खाता में दस्तावेज अपडेट करने के नाम पर देश भर में लोगों से लाखों रूपए की ठगी करने वाले तीन अंतर्राज्यीय आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 3 नग एटीएम कार्ड जब्त किया है।

Read More : Crime : नाबालिग का अपहरण कर दिया सामूहिक बलात्कार की घटना को अंजाम, मामले में 3 गिरफ्तार

मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि न्यू राजेन्द्र नगर निवासी टुकराम खुंटे ने थाने में शिकायत किया कि वह एन.टी.पी.सी नोएडा दिल्ली से महाप्रबंधक के पद में था, जहां वर्ष 2009 में सेवानिवृत्त हुआ है। टुकराम का बैंक खाता एसबीआई और आईसीआईसीआई बैंक में है। बताया जाता है कि 19 मई को एसबीआई बैंक से टुकराम के मोबाईल फोन में पेन कार्ड अपडेट करने और नहीं करने पर नेट बैंकिंग सुविधा बंद करने का मैसेज आया तथा मैसेज में एक लिंक को क्लिक कर अपडेट करने को कहा गया था।

Read More : CG Crime : दो मासूम बच्ची हुई लापता, एक की नदी में मिली लाश, दूसरी की तलाश जारी…

जिस पर प्रार्थी टुकराम ने उक्त लिंक को क्लिक किया और जैसे-जैसे ओटीपी आता रहा वैसे-वैसे लिंक में भरता चला गया। बार-बार ओटीपी आया और चैथे ओटीपी में कुछ राशि डेबिट लिखा आया, तो प्रार्थी ने ओटीपी नहीं डाला और शक की स्थिति में सारे मैसेज डीलिट कर दिया। इसी दौरान शाम को प्रार्थी को उसका बैंक एकाउंट डिएक्टीवेट होने का मैंसेज आया। कुछ देर बाद प्रार्थी के मोबाईल फोन में मोबाईल नं. 9153805192 से फोन आया कि आपने पेन कार्ड पूरा अपडेट नहीं किया है थोड़ा अपडेट करना बाकी है, जिस पर प्रार्थी ने फोन करने वाले से उसका नाम पूछने पर मोबाईल नम्बर के धारक ने अपना नाम अग्रवाल एवं एसबीआई बैंक नोएडा से होना बताया।

Read More : CG Crime : फोन पर बात करने से मना करना पति को पड़ा महंगा, नाराज पत्नी ने पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने का किया प्रयास, अस्पताल में भर्ती…

प्रार्थी के एसबीआई का बैंक खाता नोएडा सेक्टर 48 में है, तो प्रार्थी ने जानकारी लेने की कोशिश की जिस पर मोबाईल नम्बर के धारक ने ब्रांच से संबंधित होना बताया एवं एक्टिवेट करने के लिए गूगल में जाकर एसबीआई नेट बैंकिंग एक्टिवेट में क्लिक करने को कहा, फिर प्ले स्टोर से क्विक व्यूहवर इंस्टाॅल करने को कहा और प्रार्थी को बातों में उलझाये रखा। प्रार्थी उसकी बातों में व्यस्त हो गया इसी बीच आरोपी ने प्रार्थी के खाते से पैसा निकालते रहा, जिसकी जानकारी प्रार्थी को मैसेज से प्राप्त हुई। प्रार्थी ने जैसे ही मैसेज देखा तब तक पैसा एकाउंट से डेबिट हो चुका था।

Read More : CG Crime : नदी में मिला किशोर का मिला शव, परिजनों ने पहचानने से किया इंकार…

जिसके बाद उक्त व्यक्ति ने मोबाईल फोन बंद कर दिया। इस प्रकार उक्त मोबाईल फोन के धारक ने प्रार्थी को अपने झांसे में लेते हुये धोखाधड़ी कर प्रार्थी के अलग-अलग बैंक खातों से 4 किस्तो में कुल 8,78,999 रूपये आहरण कर लिया। प्रार्थी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी ठगी किया। जिसके बाद पुलिस के टीम ने आरोपियों के खिलाफ पतासाजी शुरू की। इस दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी राजस्थान के जयपुर में है। जिस पर एसीसीयू एवं थाना न्यू राजेन्द्र नगर की संयुक्त टीम को जयपुर रवाना किया गया।

Read More : CG Crime : बैंक मैनेजर हुआ उठाईगिरी का शिकार, अज्ञात व्यक्ति ने कार का शीशा तोड़कर उड़ा लिए पैसे…

टीम के सदस्यों ने जयपुर पहुंचकर पतासाजी किया इस दौरान आरोपी विनोद दुबे के संबंध में सूचना प्राप्त हुई। जिस पर टीम के सदस्यों ने आरोपी विनोद दुबे को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। आरोपी विनोद दुबे 27 वर्ष ने पूछताछ में अपने साथी नरेन्द्र कुमार कुमावत 25 वर्ष एवं दिनेश चलावरिया 24 वर्ष के साथ मिलकर ठगी के वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया है। जिससे पुलिस ने आरोपी नरेन्द्र सिंह कुमावत एवं दिनेश चलावरिया को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों के पास से अलग-अलग बैंको के 3 नग एटीएम कार्ड जब्त किया है। वहीं आरोपियांे द्वारा बैंक खातो में प्राप्त ठगी की रकम 3,99,000रूपये को होल्ड कराया गया।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button