Health: क्यों होता है सफेद दाग ? इन 4 भ्रम को न दे बढ़ावा, मरीज के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता हैं बुरा असर

Information

दिल्ली। Information जब से मानव का जन्म हुआ हैं तभी से कई प्रकार के बीमारी भी अस्तित्व में आ गया हैं। कई ऐसे गंभीर बीमारिया है जो लोगो के जीवन भर हमेशा साथ रहती हैं। इनमे से कई जानलेवा हैं तो कई बीमारिया शरीर को ज्यादा नुकसान नहीं होता हैं। इनमे से एक हैं विटिलिगो जिसे ‘ल्यूकोडर्मा’ या ‘श्वेत कुष्ठ’ के रूप में भी जाना जाता है। एक ऑटोइम्यून विकार है जिसमें शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली हेल्दी कोशिकाओं पर हमला करती है, जिससे टिश्यू डैमेज होते है। मेलानोसाइट्स वे कोशिकाएं हैं जो स्किन पिगमेंट मेलेनिन का उत्पादन करती हैं, जो आपकी त्वचा का रंग बदल देती हैं। इससे मेलानोसाइट्स मर जाते हैं और स्किन पर सफेद धब्बे दिखाई देते हैं।

Read More : Information : मोबाइल गुम हो जाने पर UPI पेमेंट को ऐसे करें ब्लॉक, बच जाएगा बैंक का सारा पैसा, जाने प्रोसेस

 

विटिलिगो किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन यह 30 साल की उम्र से पहले अधिक आम है। इसके कई अलग-अलग प्रकार हैं। कुछ लोगों में ये सफेद धब्बे शरीर के एक हिस्से में दिखाई देते हैं। वहीं, कुछ मरीजों में ये धब्बे धीरे-धीरे पूरे शरीर में फैल जाते हैं। इसको लेकर कई मान्यताएं हैं, जिसके कारण विटिलिगो के मरीजों को मानसिक तनाव का अनुभव होता है।

भ्रम 1: मछली और दूध एक साथ खाने से त्वचा पर रिएक्शन होता है
नहीं, यह बिल्कुल सच नहीं है. इस बारे में किसी भी प्रकार का कोई अध्ययन नहीं है, जो शरीर पर सफेद धब्बे और मछली-दूध को आपस में जोड़ता हो. यह एक ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है, जो फूड कॉम्बिनेशन से प्रभावित नहीं होता है. ऑटोइम्यून वह स्थिति है जब शरीर का इम्यून सिस्टम शरीर की हेल्दी कोशिकाओं पर हमला करना शुरू कर देता है.

भ्रम 2: विटिलिगो सिर्फ छूने से फैलता है
इस पर कोई शोध नहीं हुआ है. विटिलिगो संक्रामक नहीं माना जाता है। ऐसे में प्रभावित मरीजों के छूने, खाने, पीने, खून के संपर्क में आने से यह बीमारी नहीं फैलती है।

Read More : Information : 24 जुलाई को समाप्त हो जाएगा राष्ट्रपति कोविंद का कार्यकाल, जाने रिटायर होने के बाद कहां रहेंगे और मिलेगी क्या-क्या सुविधाएं

 

भ्रम 3: ज्यादा साबुन के इस्तेमाल से सफेद धब्बे हो जाते हैं
ऐसा माना जाता है कि ज्यादा साबुन के इस्तेमाल से सफेद दाग हो जाते हैं. हालांकि, यह धारणा पूरी तरह से झूठी और एक मिथ है। विटिलिगो एक ऑटोइम्यून बीमारी है। इसमें कोई बाहरी तत्व शामिल नहीं है।

भ्रम 4: सफेद दाग सभी सफेद धब्बों का कारण है
नहीं, सभी सफेद धब्बे सफेद दाग के कारण नहीं होते हैं। सफेद धब्बे नेवस, जलने के बाद, कुष्ठ रोग, टिनिअ वर्सिकलर (फंगल संक्रमण) और अन्य कारकों के कारण हो सकते हैं।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button