CG Crime : टेरर फंडिग मामले में 9 साल से फरार अंतर्राज्यीय आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे, मोबाइल, आधार कार्ड, ड्रायविंग लाइसेंस जब्त…

CG Crime

रायपुर CG Crime राजधानी पुलिस ने 9 साल से फरार अंतर्राज्यीय आरोपी को देवघर के झारखंड से गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि आरोपी आतंकवादी संगठन सिमी इंडियन मुजाहिद्दीन से जुड़कर कई लोगों के बैंक खाते में पैसा स्थानांतरित किया था। पुलिस मामले में आरोपी से पूछताछ कर रही है। वहीं टेरर फंडिग के मामले में ईडी ने भी आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Read More : CG Crime : मनियारी नदी में लाश मिलने से क्षेत्र में फैली सनसनी, पुलिस जांच में जुटी…

मामले का खुलासा करते हुए एसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि ट्रांसपोर्ट नगर खमतराई निवासी धीरज साव चिकन ठेला लगाता था। वह पाकिस्तान के किसी खालिद नामक व्यक्ति से जुड़ा है। इन लागों के द्वारा आतंकवादी संगठन सिमी इंडियन मुजाहीद्दीन के लोगों को पैसा बैंक के माध्यम से भेजा जाता था। जिससे पुलिस के टीम ने धीरज साव को पकड़ा और उससे बारिकी से पूछताछ करने पर बताया कि वह मूलतः ग्राम छुट्टू धनवा थाना जमू जिला जमुई बिहार का रहने वाला है और विगत 2 वर्षाे से रायपुर में रहा है।

Read More : CG Crime : लूट के तीन आरोपी 24 घंटे के अंदर चढ़े पुलिस के हत्थे, घड़ी व बाइक बरामद…

वर्ष 2011 में पाकिस्तान से खालिद नामक व्यक्ति के मोबाईल नंबर 923326704863 से फोन आया और कहा कि तुमको पैसा कमाना है तो हमारे साथ जुड़ो, हम जैसा बोलेंगे वैसा करना पड़ेगा तो तुम लाखों रूपए कमा लोगे। इसलिए क्या करना पड़ेगा जिस पर उसने आई.सी.आई.सी.आई. बैंक में एकाउंट खुलवाने कहा। इस बात की जानकारी धीरज द्वारा अपने मौसेरे भाई श्रवण मण्डल को दिया और कहा तुम जुड़ जाओ बहुत पैसा मिलेगा मैं उसके साथ जुड़ा हुआ हूं। जिससे श्रवण मण्डल सरस्वती नगर आई.सी.आई.सी.आई. बैंक में एकाउंट खुलवाया एवं इसकी जानकारी पाकिस्तानी खालिद को दिया।

CG Crime

खालिद ने उससे कहा कि वह इस एकाउंट में जितना भी पैसा डलवाएगा उसका 13 प्रतिशत हिस्सा काटकर बाकी पैसा राजू खान, जुबैर हुसैन एवं आयशा बानो के एकाउंट में डलवाने के साथ ही उसके बताए अन्य एकाउंट में डाल देना कहा। जिस पर श्रवण कुमार मण्डल के आई.सी.आई.सी.आई. बैंक खाता में अलग-अलग तिथियों में लाखो रूपये जमा कराया गया। श्रवण कुमार मण्डल जमा रकम से 13 प्रतिशत काटकर जुबैर हुसैन, राजू खान एवं आयशा बानो प्रतिबंधित संगठन सिमी एवं इंडियन मुजाहीद्दीन के खातों सहित अन्य खातो में जमा किया।

Read More : CG Crime : चाकू लेकर आतंक फैलाते दो बदमाश चढ़े पुलिस के हत्थे, आर्म्स एक्ट के तहत की कार्रवाई..

वहीं पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई कि आरोपी श्रवण कुमार मण्डल झारखण्ड के देवघर में छिपकर रह रहा है। टीम के सदस्यों द्वारा आरोपी श्रवण कुमार मण्डल के निवास स्थान की जानकारी प्राप्त कर उस स्थान के आसपास लगातार कैम्प करते हुए हुलिया एवं वेश भूषा बदलकर धारण करते हुए रेकी किया गया एवं मौका पाकर टीम के सदस्यों द्वारा आरोपी श्रवण कुमार मण्डल को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। पूछताछ में आरोपी श्रवण कुमार मण्डल ने बताया कि उसके पास पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन सिमी इंडियन मुजाहीद्दीन से खालिद नामक व्यक्ति का फोन आया था

Read More : CG Crime : घर घुसकर युवक से मारपीट करने वाले फरार तीन आरोपी दो साल बाद पकड़ाएं…

जिसने लाखो रूपये कमाने की बात कहते हुये श्रवण कुमार मण्डल को आई.सी.आई.सी.आई बैंक में खाता खोलवाने बोला और कहा कि वह जो भी रकम खाता में आयेगा। उस रकम से 13 प्रतिशत काटकर उसके बताये अन्य खातो में रकम जमा कर देना, कि आरोपी श्रवण कुमार मण्डल अपने मौसेरे भाई धीरज साव के साथ आई.सी.आई.सी.आई बैंक में खाता खुलवाया। खाता में जो भी रकम आता था उसका 13 प्रतिशत काटकर वह खालिद के बताये अनुसार अन्य खातो में जमा कर देता था। इसके साथ ही कोई अज्ञात व्यक्ति भी श्रवण कुमार को नगदी रकम देता था जिसमें वह 13 प्रतिशत काटकर शेष रकम को उनके बतायें बैंक खातों में अपने मौसेरे भाई की मदद से जमा करता था।

Read More : CG Crime : एटीएम मशीन से छेड़खानी कर नकदी रकम चुराने वाला अंतर्राज्यीय आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे…

आरोपी श्रवण कुमार मण्डल के बैंक खाता में लाखों रूपये का लेन-देन है जिसमें उसने अपने मौसेरे भाई धीरज साव के बैंक खाता सहित अन्य लोगों के बैंक खातो में लाखों रूपये जमा किया है तथा धीरज साव को लाखों रूपये नगद भी दिया है। आरोपी श्रवण कुमार मण्डल को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 1 नग मोबाईल फोन, आधार कार्ड एवं ड्रायविंग लायसेंस जब्त कर पूछताछ कर रही है।

Read More : CG Crime : नाले में बहे युवक का शव 24 घंटे के बाद मिला, नाला से 200 मीटर दूर में हुआ बरामद…

विदित हो कि आरोपी श्रवण कुमार मण्डल के खिलाफ टेरर फण्डिंग मामले में ई.डी. के द्वारा भी मामला पंजीबद्ध किया गया है, जिसमें आरोपी द्वारा अग्रिम जमानत के लिए उच्च न्यायालय में याचिका लगाई गई थी, जिसे उच्च न्यायालय द्वारा खारिज कर दिया गया। वहीं इस मामले में शामिल पूर्व में 5 आरोपी धीरज साव, जुबैर हुसैन, आयशा बानो, पप्पू मण्डल एवं राजू खान को गिरफ्तार किया गया है। जो कंेद्रीय जेल में 10 वर्ष सजा हुई है।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button