Notice : एक साथ 89 डॉक्टर हुए अचानक लापता, संयुक्त निदेशक ने सभी को जारी किया नोटिस..

Notice

 

 

बिलासपुर : Notice गरीबों का सहारा माने जाने वाले जिला अस्पताल की ओपीडी से 79 डॉक्टर गायब पाए गए। Notice औचक निरीक्षण करने पहुंचे संयुक्त निदेशक ने निर्धारित समय के भीतर ड्यूटी से अनुपस्थित सभी डॉक्टरों को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. Notice

दरअसल, सरकारी अस्पतालों की ओपीडी सुबह नौ बजे से शुरू हो जाती है। डॉक्टरों को नौ बजे अपने कमरों में पहुंचकर मरीजों का इलाज शुरू करना होता है। लेकिन ज्यादातर सरकारी अस्पताल देर से काम करना शुरू करते हैं। जब डॉ. प्रमोद महाजन सुबह साढ़े नौ बजे जिला अस्पताल की ओपीडी में व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे.

उस वक्त 100 से ज्यादा मरीज इलाज के लिए बैठे थे। Notice: बताया गया कि अभी तक एक भी डॉक्टर नहीं आया है। यह सुनकर डॉ. महाजन आगबबूला हो उठे। तुरंत जाकर हाजिरी रजिस्टर चेक किया। लेकिन किसी भी डॉक्टर के हस्ताक्षर नहीं थे। ओपीडी में डॉक्टरों के सभी कमरे खाली थे।

READ MORE : High Court NOTICE: बहुचर्चित हत्याकांड मामले में IPS अधिकारी को नोटिस…

 

जबकि अस्पताल में सीनियर और जूनियर समेत 79 डॉक्टर तैनात हैं। ऐसे में उन्होंने खुद हाजिरी रजिस्टर लेकर सभी डॉक्टरों को अनुपस्थित कर दिया. Notice: जिसके बाद कारण बताओ नोटिस जारी कर 24 घंटे के भीतर जवाब मांगा गया है। जवाब संतोषजनक नहीं होने पर एक दिन का वेतन काटने की चेतावनी दी गई है।

बार-बार डॉक्टरों को मरीजों का इलाज करने के लिए समय पर आने की चेतावनी दी गई है। लेकिन लापरवाही की बात यह है कि डॉक्टर निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं.Notice: ऐसे में जिला अस्पताल में रोजाना डॉक्टर ओपीडी में निर्धारित समय से देरी से पहुंचते हैं. Notice:इसके बाद मरीजों का इलाज शुरू होता है। जबकि नौ बजे से ही मरीज आने शुरू हो जाते हैं और हर दिन उन्हें डॉक्टरों के आने का इंतजार करना पड़ता है.

बता दे कि संयुक्त निदेशक डॉ. प्रमोद महाजन लगातार सरकारी अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं. इस दौरान डॉक्टर के लापता होने या लापरवाही बरतने पर नोटिस दिया जा रहा है. अब तक 200 से ज्यादा डॉक्टर, अधिकारी और कर्मचारी इनके दायरे में आ चुके हैं. जिनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की गई है।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button