Presidential Election 2022 : NDA ने द्रौपदी मुर्मू को बनाया राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार, जानिए कैसा रहा पार्षद से लेकर अब तक का राजनीतिक सफर

Presidential Election 2022

New Delhi : Presidential Election 2022 आगामी राष्ट्रपति चुनाव 2022 के लिए NDA की दल की बैठक में फैसला लिया गया है कि उनकी ओर से द्रौपदी मुर्मू  इससे पहले आज दोपहर को यूपीए ने भी अपने उम्मीदवार के नाम का एलान किया था। Presidential Election 2022  राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार होंगी। UPA ने तृणमूल कांग्रेस के यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है। Presidential Election 2022

आज राज्यसभा सदस्य शरद पवार के घर पर हुई बैठक में इसका फैसला लिया गया है। Presidential Election 2022   द्रौपदी मुर्मू देश की पहली महिला और आदिवासी नेता हैं, जिन्हें झारखंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया और उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया। आइये जानते हैं द्रौपदी मुर्मू के राजनितिक सफर के बारे में…

Read More : Breaking Presidential Election 2022 : NDA ने चुना अपना राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार, संसदीय दल की बैठक में लिया गया फैसला

 

1997 में पहली बार द्रौपदी मुर्मू बनीं पार्षद
20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ने अपने करियर की शुरुआत शिक्षक के रूप में की थी। 1997 में द्रौपदी मूर्मू पहली बार पार्षद बनीं। इसी साल वह ओडिशा एसटी मोर्चा की उपाध्यक्ष भी बनीं। 2004 में द्रौपदी मूर्मू विधानसभा चुनाव लड़ीं और जीत हासिल की।

भाजपा अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष, जिला अध्यक्ष और कई अहम जिम्मेवारी संभाल चुकी द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक करियर उपलब्धियों भरा रहा है। बीजेडी-बीजेपी गठबंधन की सरकार में उन्होंने परिवहन, कॉमर्स समेत कई अहम विभाग के मंत्रालय की जिम्मेदारी भी संभाली हैं। 2013 में उन्होंने फिर से जीत हासिल की।

Read More : Presidential Election 2022 : विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को बनाया राष्ट्रपति उम्मीदवार, जानिए इनके राजनितिक सफर और उपलब्धियों के बारे में

 

देश की पहली आदिवासी महिला जो बनीं झारखंड की गवर्नर
इससे पहले 2007 में बतौर विधायक उन्हें ओडिशा के सर्वश्रेष्ठ विधायक के खिताब ‘निलकंठ अवार्ड’ से नवाजा गया था। इससे पहले 2007 में बतौर विधायक उन्हें ओडिशा के सर्वश्रेष्ठ विधायक के खिताब ‘निलकंठ अवार्ड’ से नवाजा गया था। 2006-2009 तक वह ओडिशा एसटी मोर्चा की अध्यक्ष रहीं। बता दें कि 2015 में द्रौपदी मुर्मू झारखंड की राज्यपाल बनीं। बता दें कि वह देश की पहली महिला और आदिवासी नेता हैं, जिन्हें झारखंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया और उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया।

Presidential Election 2022

देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होंगी!
बता दें किइस चुनाव में यदि मुर्मू की जीत होती है तो वह देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होंगी। राजग उम्मीदवार मुर्मू का जन्म ओडिशा के मयूरभंज जिले में हुआ है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि बीजेडी उनकी उम्मीदवारी का समर्थन करेगा। वह ओडिशा में भाजपा और बीजेडी गठबंधन की सरकार में मंत्री भी रह चुकी हैं।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button