Assam: बारिश और बाढ़ से भूस्खलन, 25 जिलों में 11 लाख लोग प्रभावित, 13 बांध टूट गए और 64 सड़कें बह गईं, पानी भरने से चारो ओर अफरा-तफरी, देखें वीडियों…

 

असम: Assam असम में लगातार तीसरे दिन भी भीषण बारिश हो रही है. भारी बारिश (Heavy rain) के कारण राज्य के कई जिलों में बाढ़ (Flooding) की स्थिति बनने से हालात बदतर हो गए हैं लेकिन इसके बाद भी अभी राहत के आसार नहीं दिखाए दे रहे हैं. मौसम विभाग (weather department) माने तो आने वाले कुछ दिनों में और बारिश का अनुमान जताया है. यहां शुक्रवार और शनिवार को ‘ऑरेंज अलर्ट’ (‘Orange Alert’) जारी कर दिया गया है.

 

जानकारी के अनुसार ऐसे हालात के कारण राज्य के 25 जिलों में 11 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं भूस्खलन (landslide) व बारिश लगभग आठ लोगों की जान चली गई है. इसमें दो बच्चे भी शामिल है.

 

Read more :Agnipath Scheme Protest Updates: सरकार की नियत नवजवानों को रोज़गार देने कि नहीं, उनको भटकाने की है- CM बघेल…

 

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Assam State Disaster Management Authority, ASDMA ) द्वारा जारी बुलेटिन (bulletin) के अनुसार, भारी बारिश और बाढ़ के कारण अब तक 13 तटबंध टूट गए, 64 सड़कें और एक पुल क्षतिग्रस्त हो गए हैं.

मंगलवार से बिजली बंद

असम बिजली वितरण कंपनी लिमिटेड (Assam Electricity Distribution Company Limited, AEDCL) शहर में बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए चौबीस घंटे काम कर रही है, जहां मंगलवार (Tuesday) से बिजली नहीं है. पीने के पानी के टैंकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में भेजे गए हैं.मकामरूप मेट्रोपॉलिटन (Makamrup Metropolitan) जिला प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वे जरूरी काम होने पर ही अपने घरों से बाहर निकलें.

68 हजार से ज्यादा लोग 150 शिविरों में ठहरे

जानकारी के मुताबिक 15 प्रभावित जिलों के 68,331 लोगों को जिला प्रशासन ने 150 राहत शिविरों में सुरक्षति पहुंचा दिया है. वहीं बाढ़ग्रस्त नलबाड़ी के किसाने कहा कि बाढ़ ने इस बार नहीं है, बल्कि हर बार हम लोगों को तबाह किया है. हमारी समस्या का किसी के पास कोई समाधान नहीं है. हमें राहत शिविरों में रहने चले जाएंगे तो हमारे पशुओं की देखभाल कौन करेगा.

 

Read more :Agnipath Yojana Protest : तीसरे दिन भी अग्निपथ योजना का जमकर हो रहा विरोध जारी, बलिया में युवाओं ने मचाया उत्पाद, आग के हवाले की ट्रेन

 

1702 गांव बाढ़ की चपेट में, 6 नदियां ऊफान पर

जानकारी के मुताबिक राज्य के कुल 1702 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. ब्रह्मपुत्र, मानस, पगलाडिया, पुथिमारी, कोपिली और गौरांग नदी कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, राज्य आपदा मोचन बल और असम पुलिस की अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाएं राज्य में बाढ़ प्रभावित इलाकों में बचाव अभियान चला रहे हैं.

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button