RAIPUR RAILWAY : रायपुर से टिटलागढ़ दोहरीकरण का पूरा हुआ काम, लेकिन बोर्ड से नहीं मिली ट्रेन चलाने अनुमति

सिंगल लाइन होने से  हर दिन दर्जन से अधिक ट्रेन हो रही  विलंब

Metro train

 

 रायपुर। मालगाड़ी का परिचालन बढ़ने के बाद से रायपुर से विशाखापट्टनम रूट में गुजरने वाली ट्रेन सर्वाधिक विलंब होने लगी है, जिस कारण स्टेशन में यात्रियों को ट्रेन का घंटो इंतजार करना पड़ रहा है।  सिंगल लाइन होने के चलते यात्री ट्रेनों को आउटर या फिर स्टेशन में घंटो रोक दिया जा रहा हैं। मालगाड़ी को पहले प्राथमिकता दिया जा रहा। यात्रियों की ट्रेन विलंब ना हो इसलिए रायपुर से लाखौली तक दोहरीकरण का कार्य किया जा रहा है, जो अब पूरा हो चुका है लेकिन अभी तक रेलवे बोर्ड से ट्रेन चलाने की अनुमति नहीं मिली है। रेलवे अधिकारियों का कहना है, महीने भर के भीतर रेलवे आदेश जारी कर सकता है। इसके बाद ट्रायल व अन्य जरूरी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। दोहरी लाइन में ट्रेन का परिचालन शुरू होने से रायपुर से विशाखापट्टनम को बड़ी राहत मिलेगी। वर्तमान में टिटलागढ़ से विशाखापट्टनम तक दोपहरीकरण की सुविधा मिलने लगी है। केवल लाखौली से टिटलागढ़ तक सिंगल लाइन से ट्रेन गुजरती है।

read more : CG : रेलवे कर्मचारियों ने 13 सूत्रीय मांगों को लेकर खोला मोर्चा, भूखे रहकर किया ट्रेनों का संचालन..

रायपुर से विशाखापट्टनम रूट पर एक दिन में करीब एक दर्जन से अधिक यात्री गाड़ी व 50 से अधिक मालगाड़ी गुजरती है। यह सभी गाड़ियां एक ही लाइन से होकर जाती है, जिससे प्रतिदिन यात्री ट्रेन आधे से एक घंटे तक विलंब हो रही है। लाखौली से टिटलागढ़ की दूरी 200 किलों मीटर है। इस दौरान मेल व सुपरफास्ट ट्रेन 2 से 3 स्टेशनों में रुकती हैं। सिंगल लाइन होने से ट्रेन को सिग्नल नहीं मिलने की समस्या इस रूट में पुरानी है, लेकिन जब से रूट में मालगाड़ी चलने लगी है यह रूट यात्रियों के लिए सिर दर्द बन चुका है। ऐसे में दोहर लाइन में ट्रेन का परिचालन किया जाना बेहद जरूरी हो गया है। गर्मी में ट्रेन के आउटर या फिर स्टेशन में रुकने से यात्री हर दिन परेशान होने लगे है।

read more : RAILWAY RAIPUR: नहीं थम रही ट्रेनों के बेपटरी होने की घटनाएं, फिर एक बार मालगाड़ी के तीन वैगन उतरे, ट्रेन परिचालन प्रभावित

संबलपुर रेलवे मंडल ने टिटलागढ़ लाखौली तक दोहरीकरण का काम पूरा कर लिया है। इधर लाखौली से आरवीएच रेलवे स्टेशन तक लाइन बिछाने के बाद एक रूट से दूसरे पर जाने के लिए रेलवे लाइन को जोड़ने का काम भी पूरा हाेने कागार पर है। पहले रेलवे अधिकारियों का कहना है, मई में ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा लेेकिन इस थोड़ा वक्त और लग सकता है। मंडल को रेलवे बोर्ड से अनुमति का आदेश है। दोहरीकरण होने से यात्रियों के समय की बचत होगी। साथ ही मालगाड़ियों की संख्या में इजाफा होगा, जिससे रेलवे को राजस्व का फायदा होगा।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button