Shaniwar Ke Upay : शनि देव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार को करें ये उपाय, फिर देखिए कैसे बनेंगे बिगड़े काम, तकलीफों का होगा अंत!

 

नई दिल्ली। भगवान शनि देव (Shani Dev)  को कर्मफल देवता माना जाता है. पुराणों में भी कहा गया है कि व्यक्ति जैसा कर्म करेगा उसे वैसा ही फल मिलेगा। मान्यता है कि शनिदेव (Shani Dev) की जिस पर गहरी नजर पड़ जाती है, उसको जीवन में कई तरह की परेशानियों (troubles) का सामना करना पड़ता है. शनि एक ऐसे देव  (Shani Dev)  हैं जो मनुष्य को उसके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं. अगर जीवन में शनि की दिशा खराब चल रही है तो इस इंसान को अलग अलग तरह की कई परेशानियों (troubles ) तक का सामना करना पड़ेगा .\

READ MORE :

इतना ही नहीं जिसकी भी कुंडली में शनि अशुभ स्थान पर बैठे होते हैं, वो अपने जीवन में कई समस्याओं का सामना करता है.ऐसे में भक्त कई नहीं चाहते हैं कि शनि देव उनसे नाराज है. ऐसे में शनि देव (Shani Dev) को प्रसन्न कर उनकी कृपा पाने के लिए भक्त कई तरह के उपाय करते हैं. माना जाता है कि शनिवार के दिन शनि देव (Shani Dev) की पूजा करने से वो प्रसन्न होते हैं. आइए जानते हैं शनिदेव को प्रसन्न करने के कुछ खास उपाए.

READ MORE : शनिदेव और हनुमान जी की पूजा से इन लोगों का बदलेगा जीवन, बनेंगे हर बिगड़े काम, जानिए भगवान को प्रसन्न करने से आसान उपाय

1. हनुमान जी का पूजन
अगर आप शनि देव (Shani Dev) को प्रसन्न करनना चाहते हैं तो सूर्य अस्त होने के बाद हनुमान जी की पूजन करें. कहते हैं कि हनुमान जी की पूजा में सिन्दूर रखें और आरती का दीप जलाने के लिए काले तिल के तेल का इस्तेमाल करें. इतना ही नहीं नीले रंग का फूल भी चढ़ाए.ये काफी लाभकारी सिद्ध होता है.

शनि यन्त्र को करें स्थापित
शनि के प्रकोप से जीवन में परेशानियों ने घेर लिया हो तो शनिवार को शनि यंत्र की स्थापना कर पूजन करें. इतना ही नहीं आपको हर रोज पूरे विधि विधान से इस यंत्र की पूजा करनी चाहिए. इससे शनिदेव बहुत खुश होते हैं. इसके अलावा हर दिन शनि यंत्र के सामने सरसों के तेल का दीप जलाएं और नीला या काला पुष्प चढ़ाएं, ऐसा करने से भी फायदा होगा.

READ MORE : Horoscope Today 11 June 2022 : इन राशि के जातको के बनेंगे बिगड़े काम, शनिदेव की बनी रहेगी कृपा, जाने अपने राशि का हाल

 काले चनों का लगांए भोग
पूजा से एक दिन पहले तीन बर्तनों में सवा-सवा किलो काले चने अलग-अलग भिगो दें. फिर अगले दिन स्नान करने के बाद विधि से शनि देव की पूजा करें और फिर सरसों के तेल में भीगे हुए चनों को छौंके दें, फिर इनका भोज भगवान को लगाएं. पूजा के बाद पहला सवा किलो चना भैंसे को खिला दें, फिर दूसरा सवा किलो चना कुष्ट रोगियों को बांट दें और तीसरे सवा किलो चने को अपने ऊपर से उतार कर अपने घर से दूर किसी ऐसी जगह रख आएं, जहां कोई जाता न हो.

READ MORE : Shani retrograde : कल से शनि बदलेंगे चाल, इन राशियों को रहना होगा सावधान, जाने अपना हाल

काली गाय की सेवा
शनि देव को प्रसन्न करने के लिए सबसे आसान है कि गाय की सेवा की जाए. आप किसी काली गाय की सेवा करें, ये काफी शुभकारी मानी गई है. आप काली गाय के मस्तक पर रोली लगाएं और सींगों में कलावा बांधकर पूजा और आरती करें. इसके बाद गाय की परिक्रमा करके उसको बून्दी के चार लड्डू खिलाएं.

5. सरसों के तेल का दीपक
शनिवार को शाम के वक्त बरगद और पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं। फिर दूध और धूप चढ़ाएं.

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button