RAIPUR Railway: ट्रेन रद्द करने के बाद नहीं लगा अतिरिक्त कोच और ना यात्रियों को मिल रही स्पेशल ट्रेनों की सुविधा

रायपुर। तीसरी बार 34 रद्द ट्रेनों की अवधि एक महीने आगे बढ़ाने के बाद से यात्रियों का ट्रेन में सफर करना मुश्किल हो चुका हैं। इसका अंदाजा ट्रेनों में वेटिंग संख्या से लगाया जा सकता हैं। इस वक्त रायपुर से महानगर जाने वाली ज्यादातर ट्रेनों में वेटिंग 150 से 200 के बीच हैं। ट्रेनों में भीड़ इतनी हो चुकी है, की कोच में पैर रखने की जगह मिल जाए तो बड़ी बात होगी। सीट से अधिक यात्री हो चुके हैं। कोयला संकट के पहले रेलवे के पास ट्रेनों में भीड़ कम करने के लिए तीन तरह के प्लान थे। पहला ट्रेन में अतिरिक्त कोच लगा देना दूसरा स्पेशल ट्रेन का परिचालन और तीसरा क्लोन ट्रेन, मतलब होगा जुड़वां ट्रेन चलाना लेकिन रेलवे अपने की प्लान भूल चुका है। यात्रियों की समस्या दूर करने के लिए ही रेलवे ने तीन तरह का प्लान बनाया था। ट्रेन रद्द होने के बाद वेटिंग संख्या में भारी इजाफा के बावजूद रेलवे ने समस्या को दूर करने अतिरिक्त कोच भी नहीं लगाया है। दर्जन से अधिक ट्रेनों इस वक्त आवश्यकता है।

READ MORE : VIRAL VIDEO: जल्दी पहुंची यात्री ट्रेन तो लोगों ने गरबा कर मनाया जश्न, रेलवे बोर्ड को ट्वीट कर कहां, पहली बार ऐसा चमत्कार ! यात्री से पहले ट्रेन पहुंच गई स्टेशन

दूसरी लहर के बाद से रेलवे ने ट्रेनों से स्पेशल ट्रेन का टैग हटाने के बाद भी भीड़ होने पर स्पेशल ट्रेन का परिचालन जारी थी। वर्तमान में रायपुर से मुंबई के बीच 2 फेस्टीवल और 4 स्पेशल ट्रेन है, जिसमें केवल एक ट्रेन की सुविधा मिल रही है। इसके अलावा पटना, उत्तर प्रदेश, गोवा, पुणे, मध्यप्रदेश रूट में स्पेशल या फिर समर ट्रेन की सुविधा नहीं है। वर्तमान में मुंबई- हावड़ा एक्सप्रेस में स्लीपर में 48, तीनों एसी कोच में 95 और सामान्य कोच में 60 वेटिंग है। इसी तरह गीतांजली एक्सप्रेस में सभी कोच का वेटिंग 150 से अधिक है। दुरंतो एक्सप्रेस में भी 64 वेटिंग है। यही ट्रेन आज रायपुर से गुजरेंगी। तीनों में अतिरिक्त कोच ही आवश्यकता है।

READ MORE : यात्रियों को नहीं रहा रेलवे पर भरोसा, टिकट खरीदने और रिफंड लेने में बीत गया समय, अब तक सफर अधूरा

कोरबा से रायपुर होते हुए पंजाब जाने वाली छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में इस वक्त केवल स्लीपर कोच में ही 100 वेटिंग है। इसके अलावा तीनों एसी कोच में भी इतने ही वेटिंग है। इस रूट में एक भी स्पेशल ट्रेन का परिचालन नहीं किया जा रहा हैं। पंजाब व दिल्ली जाने लिए बड़ी संख्या में यात्री सफर करते हैं। रेलवे ने अभी तक अतिरिक्त कोच नहीं लगाया है। आज यह ट्रेन रायपुर से रवाना होगी। यात्रियों भारी भीड़ के बीच सफर करना होगा। इसके अलावा गरीब रथ में 71 वेटिंग है। लखनऊ रूट में भी एक स्पेशल ट्रेन की मांग है। पटना रूट में सारनाथ एक्सप्रेस में 147 वेटिंग पहुंच गया है। भीड़ में सफर करने अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं बचा है।

READ MORE : यात्रियों को नहीं रहा रेलवे पर भरोसा, टिकट खरीदने और रिफंड लेने में बीत गया समय, अब तक सफर अधूरा

ट्रेन रद्द होने के बाद ज्यादा वेटिंग रोजाना चलने वाली ट्रेनों में हैं। रद्द ट्रेनों के यात्री इन्ही ट्रेनों में सफर करने लगे है। इस कारण से अमरकंटक एक्सप्रेस में सभी कोच का वेटिंग 120 है। इसी तरह गाेंडवाना 141, दिल्ली संपर्कक्रांति 109, समता में 119 वोटिंग हो चुकी है। वर्तमान में वेटिंग आने पर यात्री का टिकट कंफर्म नहीं हो रहा है। वेटिंग में सफर कर पाए इसलिए यात्री काउंटर से टिकट खरीद रहे हैं। ई-टिकट लेने पर वेटिंग कंफर्म नहीं होने से पैसा वापस हो जाता है।

Back to top button