हाट बाजार क्लीनिक में चिकित्सकीय परामर्श से शम्भू व रघुनाथ के स्वास्थ्य में आया सुधार

कोरिया, एसके मिनोचा। विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के ग्राम नारायणपुर में हाट बाजार क्लीनिक पहुँचने से 45 वर्षीय शम्भू को स्वास्थ्य जांच के लिए घर के पास ही सुविधा मिली। शम्भू ने बताया कि लंबे समय से मुझे कमजोरी तथा थकान महसूस होती थी, हाट बाजार क्लीनिक के बारे में पता चलते ही मैंने जांच करवाया।

Read More : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने भी की हाट बाजार क्लीनिक में आने वाले मरीजों स्वास्थ्य जांच..

चिकित्सकों द्वारा हीमोग्लोबिन, शुगर, रक्तचाप की जांच में रक्तचाप सामान्य से अधिक पाया गया। उत्तम चिकित्सकीय परामर्श एवं निःशुल्क दवाईयों से मुझे बेहतर परिणाम मिला है, नियमित जांच में रक्तचाप भी सामान्य स्थिति में पाया गया है।


इसी प्रकार ग्राम बरबसपुर के 48 वर्षीय रघुनाथ हाट बाजार क्लीनिक में कमजोरी, चक्कर तथा आँखों मे धुंधलेपन की समस्या के साथ पहुँचे। प्रारम्भिक जांच में ब्लड शुगर सामान्य से अधिक पाए जाने पर चिकित्सकों द्वारा आवश्यक दवाइयां एवं शराब सेवन तथा धूम्रपान से दूर रहने की सलाह दी गई।

Read More : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक में कल्लू राम को मिली डायबिटीज जांच सुविधा, मार्च माह में 7 हज़ार 336 लोगों को निःशुल्क दवाइयां एवं स्वास्थ्य जांच

दवाईयों के नियमित सेवन तथा डॉक्टरों की सलाह से उनके स्वास्थ्य में सुधार हुआ। संचालित हाट बाजारों में मेडिकल टीम के द्वारा मरीजों को प्राथमिक उपचार के साथ टीकाकरण, एनीमिया, कुपोषण से बचाव तथा सुरक्षित संस्थागत प्रसव के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी जा रही है।


डेढ़ माह में 225 हाट बाजारों में पहुंची स्वास्थ्य टीम
जिले में संचालित 35 साप्ताहिक हाट बाज़ारों में 1 अप्रैल से 15 मई 2022 तक कुल 15 हजार 10 मरीजों ने स्वास्थ्य परीक्षण करवाया तथा 15 हजार 22 को निःशुल्क दवाइयों का लाभ मिला। विगत डेढ़ माह में 225 बार साप्ताहिक हाट बाजार हुए। सभी विकासखण्डों में 5 डेडिकेटेड वाहनों के माध्यम से स्वास्थ्य टीमों ने साप्ताहिक हाट बाज़ारों में पहुँचकर हितग्राहियों का उपचार किया।

Read More : गांव-गांव पहुंचकर हाट बाजार क्लीनिक दे रहे ग्रामीणों को चिकित्सीय सुविधा, अब तक साढ़े पांच हजार से अधिक मरीजों को मिला इलाज और निःशुल्क दवाईयां

विकासखण्ड बैकुंठपुर में इस समयावधि में 3 हजार 561 मरीज, विकासखण्ड भरतपुर में 3 हजार 369, विकासखण्ड खड़गवां में 2 हजार 709, विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ में 2 हजार 826 एवं विकासखण्ड सोनहत में 2 हजार 545 मरीजों का निःशुल्क उपचार किया गया।

JOIN TCP24NEWS WHATSAPP GROUP

Related Articles

Back to top button