हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी बोर्ड परीक्षा में कोरिया की बेटियों ने मारी बाजी…

Korea's daughters outperformed in high school and higher secondary board exams

मनेन्द्रगढ़ एस के मिनोचा। हाई स्कूल एवं हायर सेकेंडरी बोर्ड परीक्षा में कोरिया जिले की बेटियों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। दोनों ही बोर्ड परीक्षाओं में बेटियों ने बाजी मारी है। उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन से समूचे कोरिया जिले में हर्ष की लहर है। सविप्रा उपाध्यक्ष राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो ने बेटियों को बधाई देते हुए कहा कि जहां बेटियां पढ़ेंगी वहां विकास भी बढ़ेगा।

READ MORE: CG BOARD EXAM RESULT- 10-12 वीं का परिणाम हुआ जारी…10 वी में  सुमन पटेल रही टॉपर, जाने किसने-किसने किया टॉप..

न्यू लाईफ इंग्लिश मीडियम हायर सेकेंडरी स्कूल जनकपुर की कक्षा 10वीं की छात्रा अंजिला कुशवाहा पिता दुर्गा कुशवाहा माता श्रीमती सुनीता कुशवाहा ने 600 में से 581 अंक अर्जित कर 96.83 प्रतिशत अंकों के साथ कोरिया जिले में पहला और प्रदेश की टॉप टेन सूची में 10वां रैंक हासिल किया है। छात्रा ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व गुरूजनों को दिया है। छात्रा अंजिला के पिता किराना व्यवसायी और माता गृहिणी है। माता-पिता की तमन्ना है कि उनकी बेटी पढ़-लिखकर एक दिन खूब नाम कमाए।

Korea's daughters outperformed in high school and higher secondary board exams

डॉक्टर बनना चाहती है अंजिला
छात्रा अंजिला ने कहा कि नीट क्वालिफाई कर एमबीबीएस करने के बाद डॉक्टर बनना चाहती है। उन्होंने कहा कि वह डॉक्टर बनकर सुदूर वनांचल क्षेत्र में अपनी सेवा देना चाहती है तथा चिकित्सा सेवा में एक दिन खूब नाम कमाकर वह अपने माता-पिता का सपना जरूर साकार करेगी।

गौशाला का ताला तोड़कर चोरी करने वाला आरोपी गया सलाखों के पीछे

सीए बनना चाहती है दिशा सोनी

शासकीय कन्या गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल मनेंद्रगढ़ कक्षा 12वीं की छात्रा दिशा सोनी पिता रामदास सोनी एवं माता रमा सोनी ने 92.20 अंक अर्जित कर हायर सेकेंडरी बोर्ड परीक्षा में कोरिया जिले में पहला स्थान हासिल कर क्षेत्र एवं प्रदेश को गौरवान्वित किया है। छात्रा दिशा सोनी के पिता प्राइवेट जॉब करते हैं वहीं बड़ा भाई सुधांशु सोनी कोचिंग सेंटर के संचालक है।

READ MORE: Raipur Breaking News : बोर्ड परीक्षा के नतीजे में अनुत्तीर्ण, दुखी छात्र ने पहली मंजिल से लगाई छलांग

छात्रा ने अपनी सफलता का पहला श्रेय अपने भाई सुधांशु एवं इसके बाद अपने माता-पिता व गुरूजनों को दिया। छात्रा ने कहा कि भाई सुधांशु के द्वारा बोर्ड परीक्षा के लिए उसकी खासी तैयारी कराई गई थी। छात्रा दिशा ने कहा कि भविष्य में वह सीए बनना चाहती है और इसके लिए वह अभी से तैयारी में जुटी हुई है।

Back to top button