राष्ट्रपति के निर्देशन में आयोजित Red Cross AGM में छत्तीसगढ़ को एक और राष्ट्रीय सम्मान पुरुस्कार के लिए चयन किया गया..

 

जगदलपुर विजय पचौरी। छत्तीसगढ़ जगदलपुर को भारत सरकार द्वारा कई राष्ट्रीय सम्मान पुरुस्कार दिए है। इसी कड़ी में अब पूरे देश में छत्तीसगढ़ को एक और राष्ट्रीय सम्मान पुरुस्कार के लिए चयन किया गया है। रेडक्रॉस के माध्यम से उत्कृष्ट समाजसेवा कार्य के लिए अलेक्जेंडर एम चेरियन, रेडक्रॉस बस्तर, छत्तीसगढ़ को भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी के राष्ट्रीय शाखा जो राष्ट्रपति के अध्यक्षता में संचालित होता है।

 

READ MORE : Amritsar Hospital Fire: राज्य के इस अस्पताल में लगी भीषण आग, देखें पूरी वीडियो..

 

राष्ट्रपति के निर्देशन में आयोजित एजीएम में रेडक्रॉस का सर्वोच्च सम्मान पुरुस्कार, इंडियन रेडक्रॉस मेरिट सर्टिफिकेट अवार्ड (Indian Red Cross Merit Certificate Award) सम्मान के लिए चयन किया गया है। पूरे देश में मात्र 6 लोगो को इस सम्मान पुरुस्कार के लिए चुना जाता है, जिसमे वर्ष 2020-21 के लिए प्रथम स्थान में बस्तर के अलेक्जेंडर एम चेरियन को इस अवार्ड के लिए चयन किया गया है।

 

READ MORE : 12वीं में रायगढ़ की कुंती साव 98.20% अंक के साथ बनीं स्टेट टॉपर, मेरिट लिस्ट में रायगढ़ के 4 छात्रों ने बनायी जगह..

 

वहीं बस्तर के अलेक्जेंडर एम चेरियन को इससे पूर्व भी अध्यक्ष एवम कलेक्टर रजत बंसल, जिला बस्तर के निर्देशन में संचालित बस्तर रेडक्रॉस के कार्यों विशेषकर कोरोना काल में किए गए कार्यों के लिए श्रेष्ठ अधिकारी के रूप में राज्यपाल अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है।

रेडक्रॉस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राष्ट्रपति होते है। जिनके निर्देश पर स्वास्थ्य मंत्री भारत सरकार जो रेडक्रॉस के पदेन चेयरमैन होते है, वे आगामी 17 मई को आयोजित होने वाले एजीएम (AGM) में इस सम्मान पुरुस्कार का घोषणा करेंगे। राज्य एवम बस्तर जिले के रेडक्रॉस सदस्यों ने इस राष्ट्रीय सम्मान के लिए अलेक्जेंडर एम चेरियन को बधाई दिए हैं।

 

READ MORE : Breaking News : इस राज्य के सीएम ने दिया इस्तीफा, जाने क्या है वजह….

 

रेडक्रॉस का स्थापना संसद से पारित एक्ट के तहत होता है। पूरे देश में सभी जिले में रेडक्रॉस सोसायटी के अध्यक्ष, कलेक्टर एवम सचिव, सीएमएचओ होते है। राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रपति एवम राज्य में राज्यपाल अध्यक्ष होते है। मुख्यमंत्री कार्यवाहक अध्यक्ष होते है।

उल्लेखनीय है की निस्वार्थ समाज सेवा के लिए अलेक्जेंडर एम चेरियन को कई सम्मान मिल चुके है। उन्हे लोग प्यार से इलाज वाले बाबा कहते है। इलाज वाले बाबा इसलिए कहते है की जो भी संकट में उनसे मदद मांगी है उन्हे वे मुस्कराते हुए चाहे कितना भी कठिन परिस्थिति हो पूरा करते है।

Back to top button