IPL-2022: ख़राब अंपायरिंग बनी चर्चा का विषय, पहले नो-बॉल और कल कॉन्वे को आउट देने से बढ़ा विवाद..

नई दिल्ली। आईपीएल 2022 में अंपायरिंग का स्तर बेहद खराब रहा है और लगातार अंपायरों के फैसले विवादों में रहे हैं। कल खेले गए चेन्नई और मुंबई के मैच में एक बार फिर खराब अंपायरिंग चर्चा का विषय बनी। मैच की शुरुआती 10 गेंदों में डीआरएस उपलब्ध नहीं था। इस वजह से अंपायर के फैसले पर और विवाद हुआ।

Read MOre : RAIPUR CRIME : देर रात अज्ञात व्यक्ति ने किसान का गला रेत कर किया हत्या, जाँच में जुटी पुलिस

 

इस मैच में मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था और मैच की दूसरी ही गेंद पर चेन्नई के सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉनवे को अंपायर ने आउट करार दिया। कॉनवे डेनियल सैम्स की गेंद पर पगबाधा हुए थे और गेंद लेग स्टंप से बाहर जाती दिख रही थी। वो रिव्यू लेना चाहते थे, लेकिन उस समय रिव्यू उपलब्ध नहीं था। इस वजह से उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा।

 

READ MORE : IPL 2022 : Umran Malik ने फेंकी IPL इतिहास की दूसरी सबसे तेज गेंद, 157 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से की गेंदबाज़ी…

 

इसके पहले भी दिल्ली और राजस्थान के बीच खेले गए मुकाबले में नो-बॉल पर काफी विवाद हुआ था। दिल्ली को अंतिम ओवर में जीत के लिये 36 रनों की दरकार थी। ऐसे में रोवमैन पॉवेल ने ओबेड मैकॉय की पहली तीन गेंदों पर छक्के जड़ दिये थे। इनमें वह तीसरी गेंद भी शामिल थी जो फुलटॉस थी जिसे दिल्ली टीम नो बॉल देने की मांग कर रहे थे। कई दिग्गजों का मानना था की गेंद वाक़ई में नो-बॉल थी लेकिन अम्पायर का मानना बिलकुल अगल था।

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ अपने आखिरी मैच में दिल्ली 15 रनों से हार गई, टीम के कप्तान ऋषभ पंत ने मैदान में मौजूद दिल्ली के खिलाड़ियों को वापस बुलाने का फैसला भी कर लिया था, वही सहायक कोच प्रवीण आमरे मैदान में जाकर कर अम्पायर से बहस करने लगे थे। जिसके परिणामस्वरूप कप्तान ऋषभ पंत, ऑलराउंडर शार्दुल ठाकुर और सहायक कोच प्रवीण आमरे (एक मैच का बैन) पर भारी जुर्माना लगाया गया था।

Read More : Beer-Passport-Cigarette: क्या आप जानते हैं बीयर-पासपोर्ट-सिगरेट का हिंदी नाम? नहीं तो…पढ़ें ये खबर

 

Back to top button