BREAKING : छत्तीसगढ़ रणजी क्रिकेट टीम के कप्तान पर केस दर्ज, नौकरी के लिए जमा की फर्जी मार्कशीट, जानिए क्या है पूरा मामला 

 

 

रायपुर।  छत्तीसगढ़ क्रिकेट टीम के कप्तान और आईपीएल क्रिकेटर  हरप्रीत सिंह भाटिया के खिलाफ जालसाजी का केस दर्ज किया गया है। (Case registered against Chhattisgarh Ranji cricket team captain)  हरप्रीत ने महालेखाकार ऑफिस में नौकरी के लिए बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की फर्जी मार्कशीट जमा की। खेल कोटे से उसका लेखापाल पद पर चयन भी हो गया।महालेखाकार ऑफिस के माध्यम से जब दस्तावेजों की जांच करवाई गई, तब उसका फर्जीवाड़ा सामने आया। पुलिस ने मंगलवार की शाम उसके खिलाफ चारसौबीसी का केस दर्ज किया। हरप्रीत सिंह रणजी खेल चुका है।आईपीएल में भी उसका चयन हुआ था। पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी है। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस अफसरों ने बताया कि महालेखाकार कार्यालय में लेखापाल की भर्ती के लिए आवेदन मंगाया गया था।

 

Ambikapur News : नहीं बदला जाएगा मेडिकल कॉलेज का नाम, कलेक्टर ने अफ़वाह को किया ख़ारिज, राज माता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव के नाम पर ही रहेगा मेडिकल कॉलेज

 

दल्लीराजहरा निवासी हरप्रीत भाटिया ने खेल कोटे से भर्ती के लिए आवेदन किया था। उसने अपने दस्तावेजों के साथ झांसी बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी की ग्रेजुएशन की मार्कशीट जमा की। खेल कोटे और शिक्षा के आधार पर उसका लेखापाल पद पर चयन हो गया। शासकीय नियमों के तहत उसके दस्तावेज की जांच कराई गई तो वह फर्जी निकली। इस दौरान उसकी ग्रेजुएशन मार्कशीट भी बुंदेलखंड भेजी गई। वहां

 

Ticket Rules: टिकट बुकिंग के नियमों में बदलाव से बढ़ेगी रेल यात्रियों की समस्या, आईआरसीटीसी से खरीदते है टिकट तो करना होगा इन नियमों का पालन, पढ़िए पूरी खबर
 

से रिपोर्ट भेजी गई कि वह मार्कशीट फर्जी है। हरप्रीत का वहां पंजीयन ही नहीं है। सच्चाई सामने आने के बाद महालेखाकार के अफसरों की ओर से पुलिस में शिकायत की गई। जांच के बाद उसके खिलाफ अपराध दर्ज किया गया। खबर है कि आरोपी महालेखाकार ऑफिस की ओर से क्रिकेट भी खेल रहा है। इसी आधार पर उसकी नौकरी लगी थी। अफसरों के अनुसार उसने नौकरी पाने के लिए फर्जी मार्कशीट बनवाकर जमा की थी। हालांकि हरप्रीत का कहना है कि वे महालेखाकार में पदस्थ हैं। उन्होंने विभाग को सही जानकारी दी है। उन्हें एफआईआर की कोई जानकारी नहीं है। वे अभी प्रैक्टिस करने पंजाब गए हुए हैं।

 

 

 

Back to top button