सबसे सरल माने जाने वाले ARTS में सबसे ज्यादा बच्चे हुए फेल, Bio-Maths का रिजल्ट रहा बेहतर, जानिए आखिर क्या वजह…

 

 

भोपाल: कल MP बोर्ड की परीक्षा घोषित हुई, जिसमे 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट 72.72% रहा, सब्जेक्ट वाइज बात करें तो सबसे ज्यादा ह्यूमैनिटी (Humanity) (आर्ट्स) ग्रुप के बच्चे फेल हुए. सबसे टफ माने जाने वाले मैथ-साइंस और बायोलॉजी ग्रुप (Math-Science and Biology Group) का रिजल्ट ह्यूमैनिटीज की तुलना में काफी बेहतर रहा। कॉमर्स के स्टूडेंट्स (Students) मैथ-सांइस ग्रुप (math-science group) और बायोलॉजी ग्रुप (biology group) से आगे दिखे।

 

 

READ MORE:जन सूचना अधिकारी से माँगा था वित्त राशि का ब्यौरा, महीनों घूमते रहे अधिकारी, आयोग में मामला पहुंचते दी जानकारी…

 

स्कूल शिक्षा विभाग ने इस बार परीक्षा को स्कोरिंग बनाने के लिए काफी कवायद की, ताकि ह्यूमैनिटीज जैसे सब्जेक्ट ग्रुप के स्टूडेंट्स भी बड़ा स्कोर कर सकें। पैटर्न बदलते हुए 30% नंबर्स के ऑब्जेक्टिव रखे गए। 2-2 नंबर के 15 प्रश्न, 3-3 नंबर के 5 और 5-5 नंबर 3 प्रश्न थे, ताकि कम लिखकर छात्र ज्यादा अंक प्राप्त कर सकें।

सब्जेक्ट एक्सपर्ट बताते हैं- परीक्षा का जो पैटर्न बनाया गया, वो बहुत अच्छा है। यह स्कोर करने और कॉन्सैप्ट समझने के हिसाब से आसान है। जहां तक ह्यूमैनिटीज ग्रुप में विद्यार्थियों के ज्यादा फेल होने की बात है तो इसका मतलब बच्चों ने गहराई से विषयों का अध्ययन नहीं किया है। इस पैटर्न के बाद ह्यूमैनिटीज सबसे ज्यादा गहराई से अध्ययन करने वाला सब्जेक्ट ग्रुप हो गया है।

 

 

 

 

नए पैटर्न का असर क्या हुआ…?

इससे सभी सब्जेक्ट ग्रुप के छात्रों को समान अंक पाने का अवसर मिला है। नए पैटर्न में शॉर्टकट से पढ़ाई करने से अच्छे नंबर नहीं लाए जा सकते हैं। इसके लिए डीप स्टडी करना जरूरी है। यानी छात्र को हर विषय को गंभीरता से पढ़ना जरूरी है। सभी कॉन्सेप्ट जब तक क्लियर नहीं होंगे, वह सही उत्तर नहीं दे सकता है।

 

 

Related Articles

Back to top button