raipur college news: पंडित रविशंकर विवि नए सत्र में नया कोर्स नहीं कर रहा शामिल, छात्रों की संख्या बढ़ाने में जोर

 

 

 

रायपुर। पं. रविशंकर शुक्ल विवि में शैक्षणिक सत्र 2022-23 में कोई भी नया पाठ्यक्रम शुरू नहीं किया जाएगा और न ही वर्तमान में संचालित कोई पाठ्यक्रम बंद होगा। पहले से संचालित पाठ्यक्रमों में छात्र संख्या बढ़ाने की ही कोशिश की जाएगी। इस वर्ष नया शैक्षणिक सत्र 16 जून से प्रारंभ होने की संभावना है। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शैक्षणिक कैलेंडर जारी किए जाने के बाद ही न दाखिले सहित अन्य प्रक्रिया शुरू होगी। कोविड-19 के चलते बीते दो शैक्षणिक सत्रों से कक्षाएं विलंब से प्रारंभ हो रहीं है।

read more:  Weather Update: आज फिर तीव्र होगी गर्मी, दोपहर लू के साथ 41 डिग्री के पार होगा तापमान, जानिए प्रदेश में मौसम का हाल

इस वर्ष पूर्ववत जून से ही सत्र शुरू करने की तैयारी है। सूत्रों के अनुसार यूटीडी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। स्नातकोत्तर स्तर के कई पाठ्यक्रम ऐसे हैं, जिसमें रविवि को छात्र नहीं मिल पाते हैं। भाषा संबंधित विषयों के अलावा कला संकाय के पीजी प्रोग्राम में भी छात्रों की दिलचस्पी घटी है। विवि अध्ययनशाला में ना संचालित कला संकाय के अधिकतर कोर्स में सीटों यथ की संख्या 20-25 ही है। इसके बाद भी इन्हें भरने प्रार विभागों को मशक्कत करनी पड़ रही है ।

read more: Jersey Box Office Collection: ‘केजीएफ 2’ के सामने फीकी पड़ी  ‘जर्सी’, पहले वीकेंड से पिछड़ी, जानिए कितनी हुई कमाई 

परीक्षा में शामिल हुए थे 21 छात्र

सत्र 2021-22 में रविवि द्वारा जेम्स एंड जेमोलॉजी कोर्स शुरू किया गया था। इसके लिए प्रवेश परीक्षा भी आयोजित की गई थी। प्रवेश परीक्षा में 21 छात्र शामिल हुए थे, लेकिन एक भी छात्र ने एडमिशन नहीं लिया। न्यूनतम योग्यता बारहवीं होने और पर्याप्त प्रचार-प्रसार के बाद भी रविवि सीटें नहीं भर सका। , कुलसचिव प्रो. गिरीशकांत पांडेय का कहना है,  नए कोर्स की योजना फिलहाल नहीं है। पुराने पाठ्यक्रम यथावत रहेंगे। जेम्स एवं जेमोलाजी कोर्स पिछले वर्ष ही ने प्रारंभ किया गया था।

READ MORE : CONGRESS : राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस, नाम पर मंथन शुरू, नीतीश कुमार का खुल सकता है भाग्य

इस वर्ष रविवि जेम्स एंड जेमोलॉजी कोर्स पर विशेष रूप से फोकस कर रहा है। इस कोर्स में जेम्स कटिंग व पॉलिसिंग के i अलावा ज्वेलरी डिजाइन के बारे में जानकारी दी जाएगी। पहले वर्ष में डिप्लोमा, द्वितीय वर्ष में एडवांस डिप्लोमा और तीसरे वर्ष में बीवी ओसी डिग्री प्रदान की जाएगी। छात्र तृतीय वर्ष में बीवीओसी डिग्री के तहत छह सेमेस्टर होंगे। इसमें छात्रों को जेम्स एंड ज्वेलरी इंडस्ट्रयल और प्रोफेशनल जानकारी भी दी जाएगी।

 

Related Articles

Back to top button