Bachelor of Architecture में Admission लेने वाले ये बातें ध्यान दे, नहीं तो करियर शुरू होने से पहले हो जायेगा बंद

नेशनल डेस्क : आर्किटेक्चर स्नातक (बी आर्क) में एडमिशन के लिए 12वीं में फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ्स (पीसीएम) सब्जेक्ट होना अब जरूरी है। दो दिन पहले ही अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने बी आर्क एडमिशन के लिए पीसीएम को जरूरी विषयों की सूची से बाहर किया था। लेकिन अब इसे फिर अनिवार्य कर दिया गया है।

छत्तीसगढ़ के नंबर -1 न्यूज नेटवर्क Tcp 24 news के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

 

इससे पहले दो साल से एआईसीटीई के मान्यता प्राप्त कॉलेजों में आर्किटेक्चर कोर्स की एग्जाम और एडमिशन नियमों का फैसला काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर करती है। एआईसीटीई के निर्णय का आर्किटेक्चर काउंसिल ने विरोध किया था। इसे देखते हुए एआईसीटीई ने आर्किटेक्चर एडमिशन नियमों की प्रक्रिया से खुद को बाहर करने का फैसला लिया है।

एडमिशन प्रोसेस में भी बदलाव और 12 वीं के विषयों में पीसीएम जरूरी

एआईसीटीई के सदस्य सचिव प्रो. राजीव कुमार ने बताया कि आर्किटेक्चर के पांच वर्षीय डिग्री कोर्स में एडमिशन आर्किटेक्चर काउंसिल की निर्धारित शर्तों के अनुसार होंगे। वहीं, काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर ने साफ किया है कि 12वीं में पीसीएम की पढ़ाई के बगैर किसी को बी आर्क कोर्स में एडमिशन नहीं मिलेगा।

छत्तीसगढ़ के नंबर -1 न्यूज नेटवर्क Tcp 24 news के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

 

एआईसीटीई ने सभी राज्यों और उच्च शिक्षण संस्थानों को पत्र लिखकर कहा गया है कि तकनीकी कॉलेजों में बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर प्रोग्राम में एडमिशन के लिए 12वीं के जरूरी विषयों में पीसीएम जरूरी है या नहीं, यह काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर तय करेगी।

 
छत्तीसगढ़ के नंबर -1 न्यूज नेटवर्क Tcp 24 news के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

 

काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर इस सेशन के बी आर्क एडमिशन के लिए 12 जून, 3 जुलाई और 24 जुलाई को एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन कर रही है। काउंसिल ने सरकार से वित्त पोषित आर्किटेक्चर संस्थानों में एडमिशन की प्रोसेस भी बदली है।

इन संस्थानों में एडमिशन अब जेईई मेरिट के आधार पर नहीं बल्कि सिर्फ नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (नाटा) की मेरिट के आधार पर ही होंगे। पहले 50 फीसदी सीटें नाटा और 50 फीसदी जेईई की मेरिट के आधार पर भरी जाती थीं।

 

Related Articles

Back to top button