अवैध कोयले के कारोबार में 7 आरोपियों में से दो गिरफ्तार पांच की तलाश जारी

अनूपपुर, आमाड़ाड़ एस के मिनोचा : अवैध कोयले से भरे वाहन को पुलिस ने आमाडाड से किया था जप्त जिले के रामनगर थाना अंतर्गत संचालित जमुना कोतमा क्षेत्र के आमाडाड खदान में 28 नवंबर की रात मुखबिर द्वारा पुलिस को सूचना दी गई कि एक टेलर वाहन जो संदिग्ध में कालरी परिषद से कोयला लोड कर निकलने वाली है.

जिस पर रामनगर थाने के पूर्व टीआई अजय कुमार द्वारा उच्च अधिकारियों को सूचित करते हुए दलबल के साथ कालरी परिषर में दंबिस दी गई जहां पर CG15AC-3077 टेलर वाहन को जप्त किया गया व मौके पर से किसी के ना मिलने पर अन्य चालक की सहायता से वाहन को रामनगर थाना में खड़ा करते हुए एफआईआर दर्ज किया गया था तत्कालीन थाना प्रभारी अजय कुमार द्वारा 7 लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया था जिनमें तीन व्यक्ति का नामजद व 4 आरोपी अभी भी अज्ञात है नवागत थाना प्रभारी राकेश कुमार द्वारा जांच करने में आरोपियों के नाम सामने आए.

जिसमें वाहन चालक को भी गिरफ्तार किया गया थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की रात टेलर वाहन को बाल्मिक केवट उर्फ बबलू उम्र 26 वर्ष निवासी लतार के द्वारा चलाया जा रहा था लेकिन पुलिस की भनक उसे लगते ही वाहन को छोड़ फरार हो गया था जिसकी गिरफ्तारी की जा चुकी है और आरोपी द्वारा अपना जुर्म भी कबूल किया गया है दरअसल तत्कालीन थाना प्रभारी ने कोयला चोरी मामले में एसटीपी कंपनी के मैनेजर कैलाश मिश्रा मुंशी राजन सिंह बूम बैरियर ऑपरेटर कांटा घर ऑपरेटर में तैनातअधिकारी कर्मचारियों के विरुद्ध धारा 379, 414,467,468,471,120 बी 381,408 एवं 4/21 अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही जारी की थी.

+जिसमें अभी तक पुलिस को सिर्फ दो ही आरोपियों को गिरफ्तार कर पाई है बाकी अन्य 5 आरोपियों की अभी भी तलाश पुलिस द्वारा की जा रही है पुलिस को अभी यह नहीं पता चल पाया कि घटने की रात बैरियर व कांटा घर में कौन से अधिकारी व कर्मचारी परिसर में तैनात थे टेलर वाहन पर फर्जी तरीके से स्टीकर के माध्यम से तीन अलग-अलग नंबर अंकित कर कोयले का खेल जारी था जिस पर पुलिस द्वारा पकड़ कार्यवाही की गई थी।

 

इनका कहना है

कोयले के अवैध कारोबार में संलिप्त 2 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है व अन्य की खोज जारी है जल्द ही अन्य को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।

अभिषेक राजन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनूपपुर
Back to top button