breaking news : केवाईसी के लिए नही पड़ेगा दर दर भटकना, सरकार ला रही नई स्कीम…

नेशनल डेस्क । केवाईसी (KYC) यानी नो योर कस्टमर. बैंकिंस सेवाओं से लेकर अलग-अलग तरह की वित्तीय सेवाओं को व्यक्ति की पहचान के लिए केवाईसी अनिवार्य है. अगर बैंक को किसी का पता वेरिफाई (KYC verification) करना है, तो इसके लिए केवाईसी की जरूरत होती है. फोन का सिम ( phone and sim ) लेना हो या बैंक-पोस्ट ऑफिस में कोई स्कीम शुरू करनी हो, यहां तक कि म्यूचुअल फंड शुरू करना हो तो आपको केवाईसी ( kyc )  कराना जरूरी होता है. आप अगर इन सर्विस की मदद ले चुके हैं तो आपको पता होगा कि केवाईसी कितना जरूरी है और इसके लिए कितना भटकना पड़ता है. लेकिन अब ये परेशानी दूर होने वाली है क्योंकि सरकार वन नेशन-वन केवाईसी (One nation-One KYC) शुरू करने जा रही है. इसमें सिंगल विंडो सिस्टम के जरिये ग्राहक के केवाईसी की जानकारी मिल जाएगी.

read more : भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों की हो रही बरसात, विधायक गुलाब कमरों ने एक करोड़ रुपए के अधिक की बड़ी सौगात दी…

ज्यादातर ऑनलाइन सेवाओं के लिए सरकार ने केवाईसी को जरूर कर दिया है. अगर आपको बैंक अकाउंट खोलवाना हो या मोबाइल का सिम लेना हो, शेयर बाजार या म्यूचुअल फंड में निवेश करना हो, डिपॉजिटरी में पैसे लगाने हों तो आपको केवाईसी कराना जरूरी होगा. यानी कि अलग-अलग सेवाओं का उपयोग करना हो तो आपको केवाईसी कराना ही होगा. अगर केवाईसी से जुड़ी प्रक्रिया को पूरी नहीं करते हैं तो आपका काम अटक जाएगा. ऐसे में सवाल है कि अगर केवाईसी हर काम के लिए इतना जरूरी है तो सरकार इसके लिए किसी सिंगल विंडो सिस्टम को शुरू करने पर क्यों विचार नहीं कर रही है या वन नेशन-वन केवाईसी का नियम क्यों लागू नहीं करती.

 

Back to top button