ताज़ा ख़बर
संघ लोक सेवा आयोग ने भारतीय वन सेवा की परीक्षाओं की समय सारणी की जारी, इस दिन से शुरू होगी परीक्षाभय्यूजी महाराज केस में तीन लोगों को 6-6 साल की सजा…सेवादार, ड्राइवर और शिष्या को कोर्ट ने दिया दोषी करार…BIG BREAKING: रायपुर एयरपोर्ट चौक पर तेज़ रफ़्तार कार डिवाइडर से टकराई, 21 वर्षीय युवक की मौके पर मौतसेब के साथ उसके छिलके भी हैं सेहत के लिए लाभदायक, फेंकने के बदले इस प्रकार कर सकते हैं इस्तेमाल…Buy Term Papers Online – How to Prevent the Pitfallsवन अधिकार मान्यता पत्र की मांग को लेकर संसदीय सचिव से मुलाकात, उचित पहल करने का दिया आश्वासनकिम-जॉंग के हैं बेहद अजीबो-गरीब शौक…अपना टॉयलेट साथ में लेकर चलता है तानाशाह…वजह जानकर हो जाएंगे आप हैरान…कांग्रेस के जिला प्रवक्ता ने भाजपाइयों को दिया सड़क के भूमि पूजन का निमंत्रणकेरल में CORONA की डरावनी रफ्तार, 94% पॉज‍िट‍िव सैम्‍पल्‍स में मिला OMICRON वेर‍िएंट, स्वास्थ्य मंत्री के बयान ने बढ़ाई चिंताRAIPUR BREAKING: नकली नोट 4 सालों तक बैंक में होते रहे ज़मा, ना मशीन पकड़ सकी ना कर्मचारी,अब मामला पहुँचा थाने

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति पर बन रहा ये शुभ योग, तिथि को लेकर है संशय तो यहां जानें पूरी जानकारी

Mahendra Kumar SahuJanuary 14, 20221min

नई दिल्ली: 15 जनवरी दिन शनिवार को सूर्य मकर राशि में शनि और बुध ग्रह के साथ गोचर करेंगे। 14 जनवरी दिन शुक्रवार को संध्या समय में सूर्यदेव दक्षिणायन से उत्तरायण होंगे, लेकिन पुण्यकाल में संध्या होने की वजह से 15 जनवरी को मकर संक्रांति मान्य होगा। यह सर्वविदित है कि सूर्य के उत्तरायण होते ही सूर्य की सम्पूर्ण ऊर्जा समस्त चरचार को प्राप्त होने लगता है। ज्योतिष में सूर्य का उत्तरायण होना एक महत्वपूर्ण घटना माना गया है। उत्तरायण होते ही किए हुए कर्मो का, पूजा-पाठ, जप-तप और दान इत्यादि का पुण्य फल प्राप्त होता है।

 

 

मकर संक्रांति पर शुभ योग
मृगशिरा नक्षत्र में शुक्ल पक्ष त्रियोदशी तिथि में यह घटना घटित होगी। मकर राशि की साढ़ेसाती का अंतिम चरण है, जो मकर और कर्क राशि के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होगा। शनिवार के दिन सक्रांति का दान अत्यंत महत्वपूर्ण योग बना देता है। बहुत कम ऐसा योग बनता है कि शनिवार के दिन मकर सक्रांति मनाई जाए और शनि भी स्वगृही होकर अपने राशि में हो और साथ में बुध इसका लाभ भी अत्यंत मिलता है।

 

 

एक और विशेष योग बना हुआ है जो प्रातः 9.51 मिनट तक है। वह योग सूर्य और चन्द्रमा का योग है, जो नवम पंचम योग है जिसमें सूर्य से चन्द्रमा पंचम स्थान में होगा और चन्द्रमा से सूर्य नवम स्थान में होता है, ऐसे योग में किया हुआ दान अत्यंत फलित होता है।

 

read more: राशिफल 14 जनवरी 2022 : इस राशि के जातकों को मिलेगा पदोन्नती, किसको होगा धनलाभ, जानें मेष से लेकर मीन का हाल….

 

धनु, मकर और कुंभ राशि की साढ़ेसाती और तुला और मिथुन राशि के लिए शनि की ढैय्या चल रही है। इन लोगों को सक्रांति का दान कार्य, ब्राह्मण और गाय को भोजन अवश्य करवाएं। अन्न दान में चावल, काला और सफ़ेद तिल, तेल, गुड़, शहद, नमक, घी उड़द का दाल सूखा लाल मिर्च दान में अवश्य देना चाहिए।

 

 

मकर संक्रांति पर दान का महत्व
अच्छे स्वास्थ्य के लिए
किसी भी मंदिर में जाकर बेल का पौधा रोपण करें और सूर्य को जल दें इससे लाभ होगा।

अच्छी शिक्षा प्राप्ति हेतु
अच्छी विद्या प्राप्ति हेतु ब्राह्मण को जनेव, रुद्राक्ष की माला, धार्मिक पुस्तक और चन्दन का दान करना चाहिए।

 

read more: खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग पद से मुक्त हुईं किरण कौशल, अभिनव अग्रवाल संभालेंगे कार्यभार, आदेश जारी

 

 

रोजगार प्राप्ति हेतु
अन्न दान के साथ-साथ मंदिर प्रांगण में पुष्प और पीपल या वट वृक्ष का रोपण करना चाहिए। इससे रोजगार में उन्नति होती है।

दाम्पत्य जीवन में खुशहाली
इसके लिए शहद, घी और गुड़ का दान अवश्य करें। साथ ही साथ तुलसी के पौधा का रोपण करें। इससे दाम्पत्य जीवन खुशहाल रहता है।

शादी विवाह के लिए
शादी विवाह जल्दी हो और अच्छी जगह हो इसके लिए केले का पौधा लगाएं और पीला चावल, पीला वस्त्र ब्राह्मण या अपने गुरु को दान करें।

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें

Contact Our Chief Editor Mahendra Kumar Sahu

H14, dhehar city, gayatri nagar, raipur chhattisgarh, 492007