ताज़ा ख़बर
बिग ब्रेकिंग : स्वास्थ्य विभाग में बड़ा बदलाव, प्रमुख सचिव डॉ आलोक शुक्ला हटाए गए…breaking news : हरभजन सिंह हुए कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी..चमत्कारिक गुणो से भरपूर होता हैं ‘मुलेठी’, जाने कोविड काल में कैंसे इम्यूनीटी बूस्टर की तरह करता हैं कामफिल्मों में काम करने के लिए इन कलाकारों ने किया बड़ा त्याग, अक्षय और रणवीर ने तो पार कर दी सारी हदें ..RAIPUR BREAKING: 2 निरीक्षकों का तबादला, एसएसपी अग्रवाल ने ज़ारी किया आदेशवन विभाग की गिरफ्त में आए तीन संदिग्ध शिकारी, स्कॉर्पियो, राइफल व अन्य सामग्री जप्तरिश्ते निभाने में ज्यादा कामयाब नहीं हो पाते ये 4 राशि वाले लोग, जानें कहीं आप भी इसमें शामिल तो नहींधनुष को ऐश्वर्या से तलाक लेना पड़ा भारी, रजनी के फैंस ने किया एक्टर की अपकमिंग फिल्म का बहिष्कार..AFC Women’s Asian Cup 2022: ईरान से नही जीत पाया भारत, सही मौके पर किया कई गोल मिस, नतीजन मैच का हुआ ये हालसलमान और अमिताभ हुए ढेर, टीआरपी लिस्ट में अनुपमा ने फिर मारी बाजी, इन दो सीरियल को लगा तगड़ा झटका..

CM भूपेश बघेल से केन्द्रीय सिल्क बोर्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने की मुलाकात, CM बघेल ने कहा की प्रदेश में एरी सिल्क के उत्पादन से किसानों की आय में वृद्धि के साथ ही जीवन स्तर में होगा सुधार

Mahendra Kumar SahuDecember 24, 20211min

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास कार्यालय में केन्द्रीय सिल्क बोर्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रंजित रंजन ओखण्डियार और वन्या सिल्क मिल प्राईवेट लिमिटेड के संचालक डी.एस. कसारे ने सौजन्य मुलाकात की।

 

 

READ MORE : महिला सुरक्षा को लेकर पिंक गस्त पुलिस ने रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड, ट्रांसपोर्ट नगर और कई सार्वजनिक जगहों पर जाकर किया महिलाओं को जागरूक, आटो और टैक्सी में लगाई पॉम्पलेट..

रंजित रंजन ने मुख्यमंत्री को बताया कि छत्तीगसढ़ राज्य में एरी सिल्क के उत्पादन की अपार संभावनाएं हैं, जिसे व्यापक स्तर पर बढ़ावा दिए जाने की आवश्यकता है उन्होंने बताया कि एरी सिल्क अरंडी के पौधे से प्राप्त होता है और इसकी राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय बाजार में अत्यधिक मांग है उन्होंने मुख्यमंत्री बघेल को बताया कि प्रदेश में मलबरी एवँ टसर सिल्क से सम्बंधित उद्योग पहले से स्थापित हैं, ऐसे में यदि एरी कोकून की खेती और उत्पादन को बढ़ावा दिया जाए तो यहाँ किसानों के आय में वृद्धि होगी और किसान आत्मनिर्भर होंगे. उन्होंने बताया कि देश में स्थापित एरी सिल्क उद्योग सिल्क उत्पादन के लिए पूर्णतः एरी कोकून के आयात पर निर्भर थे परन्तु अब केन्द्रीय सिल्क बोर्ड द्वारा छत्तीसगढ़ में एरी कोकून की खेती की अनुमति मिल जाने से अब यह निर्भरता समाप्त होगी।

READ MORE : 69 हजार शिक्षक भर्ती मामला : 17 हजार रिक्त पेड़ों पर होगी भर्ती, 6 जनवरी को जारी होगा नियुक्ति पत्र

 

 

 

इस अवसर पर कसारे ने बताया कि उन्होंने केन्द्रीय सिल्क बोर्ड के सिल्क समग्र-2 के अंतर्गत छत्तीसगढ़ में 10 हजार एकड़ क्षेत्र में एरी कोकून की खेती के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया है। यह केंद्रीय सिल्क बोर्ड के सहयोग से छत्तीसगढ़ सरकार और कसारे वन्या सिल्क मिल का संयुक्त उपक्रम होगा । इस योजना से 10 हजार लोग प्रत्यक्ष रूप से तथा लगभग 50 हजार लोग अप्रत्यक्ष रूप से लाभान्वित होंगे ।

 

READ MORE : RAIPUR BREAKING : सिख समुदाय के गुरुओं पर किया आपत्तिजनक पोस्ट, तो भड़के लोग, सिविल लाईन थाने में किया जमकर हंगामा,देखें VIDEO.

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इस परियोजना के लिए आवश्यक सहयोग तथा शासन की नवीन योजनाओं में भी स्थान दिया जाएगा । निश्चित ही इस योजना से किसानों, आदिवासियों, युवाओं तथा महिलाओं को रोजगार के नए साधन मिलेंगे। जिससे उनकी आय में वृद्धि के साथ ही जीवन स्तर में भी सुधार होगा ।

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें

Contact Our Chief Editor Mahendra Kumar Sahu

H14, dhehar city, gayatri nagar, raipur chhattisgarh, 492007