ताज़ा ख़बर
अब गांव में बत्ती गुल होने पर नहीं गायब होंगे मोबाइल के सिग्नल, इस कंपनी की पहल से ग्रामीणों की मिलेगी राहतRAIPUR BIG BREAKING: राजधानी में देर रात दर्दनाक सड़क हादसा, 2 युवतियों की मौके पर ही मौत,4 युवक-युवती गंभीर रूप से घायलHow Professional Essay Services Can Benefit Studentsइन राशियों को मिलेगा भाग्य का साथ, सूर्य की तरह चमकेगी किस्मत, पढ़ें 28 नवंबर का राशिफल..बिग ब्रेकिंग : देर रात 40 पटवारियों का हुआ तबादला, देखिए पूरी लिस्ट..Airtel ने किया फ्री डाटा देने का ऐलान, इन ग्राहकों को मिलेगा लाभ, जल्दी कीजिए इस प्लान के तहत रिचार्ज..इस महिला ने उठाया चौकाने वाला कदम, पति के गुजर जाने के बाद गाय के साथ किया ये काम, सुनकर हैरान हो जाएंगे आप..इतने रुपए सस्ता मिलेगा गैस सिलेंडर, LPG ग्राहकों को मिली बड़ी राहत, जल्द शुरु हो सकती है ये सेवा..जोर- शोर से शुरु हुई कैटरीना-विक्की की शादी की तैयरियां, सलमान से लेकर बॉलीवुड के कलाकार नही है शादी में Allow..नई गाड़ी खरीदने का बना रहे प्लान, इन बातों का रखे ध्यान, यहां मिलेगा सबसे सस्ता कार लोन प्लॉन..

सिक्स पैक के चक्कर में युवा हो रहे नपुंसकता का शिकार!, सामने आई ये चौंकाने वाली वजह, भूलकर भी न करें ऐसा

Mahendra Kumar SahuNovember 17, 20211min

 

नई दिल्ली। बॉडी बनाने के चक्कर में लोग कई प्रकार के हथकंडे अपनाते हैं. ऐसे में इसका असर शरीर के कुछ अंगों पर भी पड़ने लगता है. आज के युवा सिक्स पैक बनाने के चक्कर में हारमोंस का इंजेक्शन लगवा लेते हैं। इसका साइड इफेक्ट यह होता है कि शुक्राणु मर जाते हैं और नपुंसकता आ जाती है। मुंबई के सेक्सुअल हेल्थ फिजीशियन एवं काउंसलर प्रोफेसर दीपक के जुमानी ने बताया कि टेस्टोस्टेरॉन हारमोन के इंजेक्शन लगाने से शरीर में यह हारमोन बनना बंद हो जाता है।

 

 

 

इससे एजूस्परमिया रोग हो जाता है। इसमें शुक्राणु घटने लगते हैं और उनकी संख्या शून्य भी हो सकती है। उन्होंने कहा कि तरीका यह है कि डायबिटीज रोगी से डॉक्टर को खुद उससे यौन शक्ति के संबंध में पूछना चाहिए। रोगी झिझक की वजह से खुद नहीं बता पाते। उसे बताना चाहिए कि यौन कमजोरियों का इलाज उपलब्ध है। डायबिटीज के कारण रक्तवाहिनियां सिकुड़ जाती हैं और रक्त प्रवाह कम हो जाता है।

 

 

read more: भारत में लॉन्च हुआ BMW 220i का ब्लैक शैडो एडीशन, सिर्फ 7.1 सेकेंड में पकड़ती है 0-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार, जानिए कीमत और फीचर्स

 

 

उन्होंने बताया कि कोरोना काल में नपुंसकता के 42 फीसदी नए रोगी सामने आए हैं। पोस्ट कोविड रोगियों में भी यह दिक्कत बढ़ी है। इसके अलावा मानसिक तनाव से भी यह दिक्कत हो रही है। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने पीनाइल इम्प्लांट के बारे में बताया। यह एक तरह का छोटे पाइप होता है जिसे व्यक्ति के अंग विशेष में लगाया जाता है। इसका बटन शरीर के बाहर होता है। उन्होंने बताया कि देसी इम्प्लांट की कीमत करीब 40 हजार और अमेरिकी कीमत सवा लाख है।

 

 

 

 

ऐसे नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर

केडीएकॉन-2021 में एम्स दिल्ली से मेजर जनरल डॉ. आरके मारवाह ने बताया कि डायबिटीज के रोगियों को दिन में छह बार खाना चाहिए। लोग एक बार में ही खा लेते हैं। इससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। अगर इसी खाने को दो-दो घंटे में थोड़ा-थोड़ा खाएं तो ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहेगा।

 

 

 

 

उन्होंने गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को होने वाली डायबिटीज के संबंध में बताया। कहा कि अगर महिला को पहले से डायबिटीज के बारे में पता है तो गर्भधारण करने के पहले ब्लड शुगर नियंत्रित कर लें। इसका दुष्प्रभाव गर्भस्थ शिशु पर भी पड़ता है। प्रि डायबिटिक को अपनी लाइफ स्टाइल बदलकर खुराक नियंत्रित कर लेनी चाहिए।

 


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें

Contact Our Chief Editor Mahendra Kumar Sahu

H14, dhehar city, gayatri nagar, raipur chhattisgarh, 492007