ताज़ा ख़बर
RAIPUR BIG BREAKING: राजधानी में देर रात दर्दनाक सड़क हादसा, 2 युवतियों की मौके पर ही मौत,4 युवक-युवती गंभीर रूप से घायलHow Professional Essay Services Can Benefit Studentsइन राशियों को मिलेगा भाग्य का साथ, सूर्य की तरह चमकेगी किस्मत, पढ़ें 28 नवंबर का राशिफल..बिग ब्रेकिंग : देर रात 40 पटवारियों का हुआ तबादला, देखिए पूरी लिस्ट..Airtel ने किया फ्री डाटा देने का ऐलान, इन ग्राहकों को मिलेगा लाभ, जल्दी कीजिए इस प्लान के तहत रिचार्ज..इस महिला ने उठाया चौकाने वाला कदम, पति के गुजर जाने के बाद गाय के साथ किया ये काम, सुनकर हैरान हो जाएंगे आप..इतने रुपए सस्ता मिलेगा गैस सिलेंडर, LPG ग्राहकों को मिली बड़ी राहत, जल्द शुरु हो सकती है ये सेवा..जोर- शोर से शुरु हुई कैटरीना-विक्की की शादी की तैयरियां, सलमान से लेकर बॉलीवुड के कलाकार नही है शादी में Allow..नई गाड़ी खरीदने का बना रहे प्लान, इन बातों का रखे ध्यान, यहां मिलेगा सबसे सस्ता कार लोन प्लॉन..मंडी निरीक्षक के एग्जाम दिलाने वाले परीक्षार्थी हो जाए सावधान, इन नियमों का करे पालन, नही तो उठाना पड़ सकता हैं भारी नुकसान..

रिश्वतखोरी का डेटा जारी, जाने भारत किस पायदान पर, अमेरिका ने तोड़े रिश्वतखोरी के सभी रिकॉर्ड..

Mahendra Kumar SahuNovember 17, 20211min

नई दिल्ली। व्यापार रिश्वत जोखिम को आंकने वाली वैश्विक सूची में इस वर्ष भारत पांच पायदान नीचे खिसककर 82वें स्थान पर आ गया है. पिछले साल यह 77वें स्थान पर था. रिश्वत के खिलाफ मानक स्थापित करने वाले संगठन ‘TRACE’ की सूची 194 देशों, क्षेत्रों और स्वायत्त एवं अर्द्ध स्वायत्त क्षेत्रों में व्यापार रिश्वतखोरी जोखिम को दर्शाती है. इस वर्ष के आंकड़ों के अनुसार, उत्तर कोरिया, तुर्कमेनिस्तान, वेनेजुएला और इरिट्रिया में सबसे अधिक व्यावसायिक रिश्वतखोरी का जोखिम है, While Denmark, Norway, Finland, Sweden and New Zealand में सबसे कम जोखिम.

READ MORE : लड़कियों के दो गुटों के बीच जमकर चले लात-घूंसे, बॉयफ्रेंड को लेकर हुआ गैंगवार, एक-दूसरे को पटकते दिखीं लड़कियां

आंकड़े से पता चलता है कि भारत 2020 में 45 अंकों के साथ 77 वें स्थान पर था, जबकि इस वर्ष यह 44 अंक के साथ 82 वें स्थान पर रहा. यह अंक चार कारकों पर आधारित है – सरकार के साथ व्यापार बातचीत, रिश्वत-रोधी निवारण और प्रवर्तन, सरकार और सिविल सेवा पारदर्शिता तथा नागरिक समाज की निगरानी की क्षमता जिसमें मीडिया की भूमिका शामिल है. आंकड़ों से पता चलता है कि भारत ने अपने पड़ोसियों – पाकिस्तान, चीन, नेपाल और बांग्लादेश से बेहतर प्रदर्शन किया है. इस बीच, भूटान ने 62वीं रैंक हासिल की, जैसा कि आंकड़ों से पता चलता है.

READ MORE : फिर शुरू हुई गली मोहल्ले में शराब की बिक्री,ठेकेदार अपनी मनमानी पर उतारू..

इसमें कहा गया है, ‘‘पिछले पांच वर्षों में, वैश्विक रुझानों की तुलना में अमेरिका में व्यापार रिश्वतखोरी जोखिम वातावरण काफी खराब हो गया है. 2020 से 2021 तक, खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) के सभी देशों ने वाणिज्यिक रिश्वतखोरी जोखिम में वृद्धि देखी है. पिछले पांच साल में जिन देशों ने वाणिज्यिक रिश्वतखोरी के जोखिम वाले कारकों में सुधार की दिशा में सबसे बेहतर प्रदर्शन किया है, वे हैं- उज्बेकिस्तान, गाम्बिया, आर्मेनिया, मलेशिया और अंगोला.”

 

ट्रेस रिश्वतखोरी जोखिम मैट्रिक्स 194 देशों, स्वायत्त एवं अर्द्ध स्वायत्त क्षेत्रों में रिश्वत की मांग की संभावना को आंकता है. यह मूल रूप से 2014 में दुनिया भर में वाणिज्यिक रिश्वतखोरी के जोखिमों के बारे में अधिक विश्वसनीय और सूक्ष्म जानकारी के लिए व्यावसायिक समुदाय की आवश्यकता को पूरा करने के लिए प्रकाशित किया गया था. ट्रेस संयुक्त राष्ट्र, विश्व बैंक, गोथेनबर्ग विश्वविद्यालय में वी-डेम संस्थान और विश्व आर्थिक मंच सहित सार्वजनिक हितों से जुड़े मुख्य और अंतरराष्ट्रीय संगठनों से प्राप्त प्रासंगिक डेटा एकत्र करता है.


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें

Contact Our Chief Editor Mahendra Kumar Sahu

H14, dhehar city, gayatri nagar, raipur chhattisgarh, 492007