छत्तीसगढ़ी फिल्म भुलन द मेज को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार, फिल्म के निर्माता मनोज वर्मा उपराष्ट्रपति के हाथों हुए सम्मानित

 

 

रायपुर । सोमवार का दिन छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ी बोली भाखा को चाहने वालों के लिए काफी खास रहा । छत्तीसगढ़ी परंपरा और ठेठ छत्तीसगढ़ी परिवेश में बनी फिल्म भुलन द मेज को 67 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में रीजनल कैटेगिरी में पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर देश के उपराष्ट्रपति वैंकैया नायडू ने फिल्मकार मनोज वर्मा को पुरस्कृत किया । बता दें कि मनोज वर्मा की यह फिल्म संजीव बख्शी के उपन्यास भूलन कांदा पर आधारित हैं।

 

 

फिल्म को बेहद संजीदगी और खूृबसूरती के साथ बनाया गया हैं। हर एक एंगल को बारीकी से अध्ययन कर फिल्माया गया हैं । फिल्म के निर्माता निर्देशक और एक्टर्स के साहस को दाद देनी होगी। जो उन्होंने छत्तीसगढ़ी सिनेमा में ऐसा बेहतरीन फिल्म बनाया है । नही तो प्रदेश में ऐसी आर्ट और समाजिक मुद्दे पर फिल्म नही बनती ।

 

READ MORE : बम्पर ऑफर : त्योहारी सीजन में कार खरीदने का मौका, यह कंपनी दे रहा 53 हजार तक की छूट

 

उपन्यास के किरदार को जिस तरह से फिल्म के डायरेक्टर और एक्टर ने प्रस्तुत किया है, वो उनकी छुपी प्रतिभा को बेदह नजदीक से दिखाती हैं । न्याय व्यस्था को लेकर फिल्म का संदेश जोरदार हैं ।छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ी सिनेमा के लिए यह दिन बेहद महत्वपूर्ण है। भूलन द मेज ने कीर्तिमान स्थापित किया है वो ना केवल फिल्म इंड्रस्टी बल्कि पूरे प्रेदश के लिए खास हैं ।

 

Back to top button