ताज़ा ख़बर
CORONA BREAKING : प्रदेश में आज 125 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि, 3 ने गवाई जान, देखिए जिलेवार आंकड़ें…CG BREAKING : करंट की चपेट में आने से एक किसान समेत दो बैलों की हुई दर्दनाक मौत, इलाके में मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस16 माह बाद मल्टिप्लेक्स में फिर लौटी रौनक, 50 फीसदी दर्शकों के साथ गुलजार हुआ सिनेमा हॉल, वैक्सीनेटेड लोगों के लिए खास ऑफर, देखें VIDEO…1 अगस्त से बदल जाएंगे नियम, जानिए LPG के दामों को लेकर क्या है अपडेट, बैंक की कई सेवाएं भी हो जाएगी महंगी, पढ़िए पूरी खबर….जब सोनू सूद मुंबई पहुंचे तो उनके पास केवल इतने रुपये थे, फिर उन्हें इस बात का लगने लगा था डर, लोकल ट्रेन के धक्के खाते हुए…. ,ऐसे बने रियल लाइफ हीरो…Tiger Shroff से सेट पर भिड़ गया शख्स, फिर एक्टर ने दिया करारा जवाब, जानिए फिर क्या हुआ…जो विधायिका अपने छेत्र में विकास नहीं कर सकती उनसे प्रदेश के विकास के लिए आशा रखना मतलब मन में लड्डू खाना – पंकज जैनरायपुर से गोवा की राह हुई आसानः तीन अगस्त से उड़ान भरेगी फ्लाइट, इन दो जगहों के लिए भी शुरू होगी विमान सेवा, जानिए पूरा शेड्यूलविधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत और मुख्यमंत्री बघेल ने ‘चंदैनी गोंदा-एक सांस्कृतिक यात्रा‘ पुस्तक का किया विमोचनCRIME : प्रेम विवाह से नाराज पिता ने बेटी को उतारा मौत के घाट, पहले जन्मदिन मनाने के बहाने अपने पास बुलाया, फिर हत्या कर नहर में फेंक दी लाश

RAIPUR : फार्मासिस्टों ने AIIMS प्रबंधन के तानाशाही के ख़िलाफ़ खोला मोर्चा, मानव श्रृंखला बनाकर किया मौन प्रदर्शन, ये है मुख्य मांगें

Sanjay sahuJuly 22, 20211min

 

 

 

रायपुर, नितिन नामदेव। इंडियन फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने AIIMS प्रबंधन के तानाशाही रवैए के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया। उन्होंने AIIMS के गेट के बाहर मानव श्रृंखला बनाकर मौन प्रदर्शन किया।इंडियन फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने विगत कई वर्षों से रायपुर AIIMS में फ़ार्मासिस्ट की नियमित भर्ती करने, ड्रग इन्फ़र्मेशन सेंटर DIC शुरू करने एवं DIC में फ़ार्मासिस्ट नियुक्त करने के साथ ही फ़ार्मेकोविजिलेंस विभाग शुरू करने , AIIMS परिसर में जन औषधी दवा दुकान खोलने आदि की माँग कर रहे है लेकिन AIIMS रायपुर प्रबंधन एक भी माँग पूरी नहीं किया है. पिछले दिनों प्रबंधन से उक्त विषयों को लेकर पैनल मीटिंग हुई थी, लेकिन भर्तियाँ करने के बजाय उल्टा संविदा फ़ार्मासिस्ट वंदना देवांगन को बिना कोई कारण नौकरी से निकाल दिया गया।

 

 

 

इसको लेकर एम्स अस्पताल के सामने 50 से ज्यादा फार्मासिस्ट शांति पूर्ण तरीके से प्रदर्शन पर बैठे गए है.फार्मासिस्ट का कहना है कि लगातार एम्स से हम लोग मेडिकल के खोलने की मांग कर रहे है. इसके बाद भी हमारी बात नहीं सुनी जा रही है. कर्मचारी फ़ार्मासिस्ट वंदना देवांगन को IPA से त्यागपत्र देने , IPA के द्वारा माफ़ीनामा पत्र लिखने पर दोबारा नौकरी पर रखने की बात कही गई । उन्होंने कहा की AIIMS रायपुर 2012 से स्थापित है 9 साल हो चुके लेकिन आज तक स्वीकृत 40 फ़ार्मासिस्ट सँवर्ग के एक भी पद पर भर्ती नहीं हुई है. बल्कि 32 सुपरस्पेशालीटी वाले अस्पताल में दवा प्रबंधन वार्ड ब्वाय और नर्स कर रहे हैं।

 

 

फ़ार्मासिस्ट का कहना है कि भारत सरकार के क़ानून फ़ार्मेसी ऐक्ट 1948 नियम 42 के मुताबिक़ ग़ैरपंजीकृत फ़ार्मासिस्ट द्वारा दवा डिस्पेन्स करने पर छः माह कारावास एवं एक हज़ार जुर्माने का प्रावधान है । रायपुरAIIMS प्रबंधन के तानाशाही रवैया और अमानवीय व्यवहार से प्रदेशभर के फ़ार्मासिस्ट आक्रोशित हैं. जिसको लेकर आज सैंकड़ों पंजीकृत फ़ार्मासिस्ट हाथो में माँगो की तख़्तियाँ लेकर निदेशक कार्यालय के सामने मौन प्रदर्शन कर रहे है। IPA ने चेतावनी दी है कि मांगों को जल्द निराकरण नहीं होने पर देशभर में प्रदर्शन होंगे और दवा व्यवस्था को पूर्णरूपेण बाधित भी किया जाएगा।

 

READ MORE: बड़ी खबर: कर्नाटक में सीएम की पद के लिए गर्माया सियासत, सीएम बीएस येदियुरप्पा का जाना तय, कहा- आलाकमान जो कहेगा वहीं करूंगा

 

 

 

XCheck Digital Badge


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें







lower banner