ताज़ा ख़बर
CG BREAKING : करंट की चपेट में आने से एक किसान समेत दो बैलों की हुई दर्दनाक मौत, इलाके में मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस16 माह बाद मल्टिप्लेक्स में फिर लौटी रौनक, 50 फीसदी दर्शकों के साथ गुलजार हुआ सिनेमा हॉल, वैक्सीनेटेड लोगों के लिए खास ऑफर, देखें VIDEO…1 अगस्त से बदल जाएंगे नियम, जानिए LPG के दामों को लेकर क्या है अपडेट, बैंक की कई सेवाएं भी हो जाएगी महंगी, पढ़िए पूरी खबर….जब सोनू सूद मुंबई पहुंचे तो उनके पास केवल इतने रुपये थे, फिर उन्हें इस बात का लगने लगा था डर, लोकल ट्रेन के धक्के खाते हुए…. ,ऐसे बने रियल लाइफ हीरो…Tiger Shroff से सेट पर भिड़ गया शख्स, फिर एक्टर ने दिया करारा जवाब, जानिए फिर क्या हुआ…जो विधायिका अपने छेत्र में विकास नहीं कर सकती उनसे प्रदेश के विकास के लिए आशा रखना मतलब मन में लड्डू खाना – पंकज जैनरायपुर से गोवा की राह हुई आसानः तीन अगस्त से उड़ान भरेगी फ्लाइट, इन दो जगहों के लिए भी शुरू होगी विमान सेवा, जानिए पूरा शेड्यूलविधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत और मुख्यमंत्री बघेल ने ‘चंदैनी गोंदा-एक सांस्कृतिक यात्रा‘ पुस्तक का किया विमोचनCRIME : प्रेम विवाह से नाराज पिता ने बेटी को उतारा मौत के घाट, पहले जन्मदिन मनाने के बहाने अपने पास बुलाया, फिर हत्या कर नहर में फेंक दी लाशविधानसभा का मानसून सत्र: जब जय…वीरू, गब्बर…कालिया की जोड़ी पर सदन में गूंजे ठहाके, जानिए क्या है पूरा मामला

सीमा पर ईद: करीब आए भारत और पाकिस्तान, सैनिकों ने एक-दूसरे को दी मिठाई

Mahendra Kumar SahuJuly 21, 20211min
दोनों देशों के सैनिकों ने सीमा पर एक दूसरे को मिठाई देकर ईद की शुभकामनाएं दी हैं, दोनों देशों में कई सालों से जारी तनाव के बीच ईद के मौके पर यह सद्भावना अहम है।

 

राजस्थान: सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों और पाकिस्तान रेंजर्स ने ईद उल-अज़हा के अवसर पर भारत-पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर मिठाइयों का आदान-प्रदान किया ।

ईद उल-अज़हा यानी बकरीद का त्योहार भारत में 21 जुलाई को मनाया जा रहा हैं। यह इस्लाम धर्म का दूसरा सबसे बड़ा त्योहार जो ईद उल फितर के 70 दिन बाद मनाया जाता है। इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग बकरीद पर सुबह नमाज अदा करते हैं। इसके बाद आपस में गले मिलकर एक दूसरे को बधाई देते हैं।

(बीएसएफ) भारत का एक प्रमुख अर्धसैनिक बल है। एवं विश्व का सबसे बड़ा सीमा रक्षक बल है। जिसका गठन 1 दिसम्बर 1965 में हुआ था। इसकी जिम्मेदारी शांति के समय के दौरान भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर निरंतर निगरानी रखना, भारत भूमि सीमा की रक्षा और अंतर्राष्ट्रीय अपराध को रोकना है।

वही, पाकिस्तान रेंजर्स की उत्पत्ति 1942 में हुई, जब ब्रिटिश सरकार ने सिंध में एक विशेष इकाई की स्थापना की, जिसे सिंध पुलिस रेंजर्स के नाम से जाना जाता है। 1947 में पाकिस्तान की स्वतंत्रता के बाद, भारत के साथ उसकी पूर्वी सीमाओं की सुरक्षा विभिन्न अस्थायी बलों को आवंटित की गई थी।

READ MORE: ट्विटर पर उठी Students को वैक्सीन लगाने की मांग, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #VaccinateStudents, 88 हजार से ज्यादा लोगों ने किया ट्वीट

 

बीएसएफ के जवानों और पाकिस्तान रेंजर्स ने ईद उल-अज़हा के अवसर पर भारत-पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर मिठाइयों का आदान-प्रदान किया।

दरअसल, प्रोटोकॉल (Protocol) के तहत हर साल इस्लामाबाद (Islamabad) में मौजूद भारतीय हाई कमीशन ऑफ इंडिया की ओर से पाकिस्तान के सभी बड़े लोगों को दिवाली की मिठाई भेजी जाती है। हर साल दिवाली पर भारत-पाकिस्तान के बीच जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर और एलओसी पर मिठाई एक्सचेंज सेरेमनी होती है।

 

बता दें कि पुलवामा के आतंकी हमले और 2019 की एयर स्ट्राइक के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते बेहद तल्ख हो गए थे। इन स्थितियों के बीच क्रॉस एलओसी ट्रेड समेत पाकिस्तान के साथ भारत के तमाम रिश्ते टूट गए थे। इसके अलावा एलओसी पर परंपरा के रूप में चला आ रहा मिठाईयों और शुभकाममनाओं का आदान-प्रदान भी बंद कर दिया गया था।

 

 

 

XCheck Digital Badge


About us

हम निर्भीक हैं, निष्पक्ष हैं व सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके साथ हैं…


CONTACT US

संपर्क करें







lower banner